The Family Man 2: 'श्रीकांत' से 'चेल्लम सर' तक, खूब वायरल हो रहे हैं मीम

समय:2022-10-01 01:03:36स्रोत:संवेदनशीलता नेटवर्क लेखक:नुजियांग लिसु स्वायत्त प्रान्त

श्रीकांतसेचेल्लमसरतकखूबवायरलहोरहेहैंमीमBreast Removal Surgery: आखिर क्या है ब्रेस्ट रिमूवल सर्जरी, युवतियों में इसका चलन क्यों बढ़ रहा ?******Highlightsब्रेस्ट रिमूवल सर्जरी के बारे में आपने क्या कभी सुना है। युवतियों में आखिर क्यों इसका चलन लगातार बढ़ता जा रहा है। क्या ये कोई फैशन है या फिर गंभीर समस्या, जिसके लिए युवतियां ब्रेस्ट रिमूवल सर्जरी करवा रही हैं। दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में गत तीन वर्षों में ऐसी 30 युवतियां ब्रेस्ट रिमूवल सर्जरी करा चुकी हैं। आखिर इसकी जरूरत क्यों पड़ रही है? ज्यादातर लड़कियां इस आशंका में यह सर्जरी करवा रही हैं कि अगर ये नहीं कराया तो उनकी शादी में व्यवधान हो सकता है या फिर उनके जीवन को खतरा हो सकता है। आइए आपको बताते हैं कि ये है क्या।एम्स के आंकोलॉजी विभाग में ब्रेस्ट रिमूवल सर्जरी की लंबी फेहरिस्त है। एक के बाद एक युवतियां अपने ब्रेस्ट को रिमूव कराने के लिए यहां पहुंच रही हैं। इसके लिए उनके मन में अजीब सा डर है। यह डर है कैंसर का। अगर किसी की मां को ब्रेस्ट कैंसर रहा है तो मुमकिन है कि यह ब्रेस्ट कैंसर उसकी बेटी को भी अपना शिकार बना ले। इसमें ब्रेस्ट में टेनिस के आकार की गांट निकलने लगती है, जिसका साइज बाद में बढ़ने लगता है। अगर इस पर ध्यान नहीं दिया गया तो यह बाद में फुटबाल जैसा आकार ले सकती है। यह ब्रेस्ट कैंसर होता है।नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ कैंसर प्रिवेंशन एंड रिसर्च के पूर्व डायरेक्टर रहे नोएडा के प्रो. डा. रवि मेहरोत्रा के अनुसार सभी मामलों में ऐसा जरूरी नहीं है। मगर कुछ मामलों में ऐसा देखा गया है कि यदि मां को ब्रेस्ट कैंसर पहले था तो उनकी बेटी में भी ब्रेस्ट कैंसर पाया गया। इसका खतरा तो रहता है। इसलिए जिनकी मां को पहले से ब्रेस्ट कैंसर रह चुका है, उनकी बेटियों को अधिक सतर्क रहने की आवश्यकता होती है। यदि उन्हें कभी भी ब्रेस्ट में गांठ जैसा कुछ महसूस हो तो तत्काल इसकी जांच करवाएं। प्रारंभिव स्टेज में ब्रेस्ट कैंसर का पता चल जाने पर इसका आसानी से इलाज हो सकता है। जितनी देर करेंगे, उतनी ही समस्या गंभीर होती जाएगी। एम्स में जिन युवतियों और महिलाओं ने ब्रेस्ट रिमूवल सर्जरी करवाई, उनमें ब्रेस्ट कैंसर को तेजी से बढ़ाने वाले एक्टिव जीन्स पाए गए थे। जेनेटिक टेस्टिंग के बाद ऐसी युवतियों ने ब्रेस्ट रिमूवल सर्जरी करवा ली। ताकि उन्हें ब्रेस्ट कैंसर न हो।डा. मेहरोत्रा के अनुसार इसके लिए दो जीन्स उत्तरदायी होते हैं। बीआरसीए-1 और बीआरसीए-2...ये दोनों जीन्स में से कोई भी यदि एक्टिव है तो ब्रेस्ट या ओवेरियन कैंसर होने का खतरा अधिक होता है। यदि मां में जेनेटिक टेस्टिंग में म्यूटेशन मिल रहा है तो उनकी बेटियों में 50 फीसद से अधिक खतरा ब्रेस्ट कैंसर का रहेगा। डा. रवि मेहरोत्रा इंडियन काउंसिल फॉर मेडिकल रिसर्च और इंडियन कैंसर रिसर्च कंसोर्टियम के सीईओ भी रहे हैं। उन्होंने बताया कि कैंसर को लेकर अब भी जागरूकता की बेहद कमी है। यदि अर्ली डिटेक्शन यानि जितना जल्दी बीमारी का पता लग जाए तो कैंसर को ठीक किया जा सकता है। प्राथमिक स्टेज में यह सिर्फ दवाओं से ठीक हो सकता है, लेकिन गंभीर होने की स्थिति में मैमोग्राफी, कीमोथेरैपी और रेडिएशन जैसी प्रक्रियाओं के जरिये इलाज किया जाता है, जो तकलीफदेह भी हो सकता है।डा. मेहरोत्रा के अनुसार कई बार पुरुषों में भी ब्रेस्ट कैंसर देखने को मिल सकते हैं। यह भी वंशानुगत हो सकते हैं। निप्पल से तरल का डिस्चार्ज होना, सूजन, लाल चकत्ते, गांठ इत्यादि इसके लक्षण हो सकते हैं। वहीं महिलाओं में हार्मोन स्तर ऊपर-नीचे होने लगते हैं। इससे कैंसर कोशिकाएं असामान्य रूप से बढ़ने लगती हैं। इसलिए कैंसर के प्रति जागरूकता जरूरी है।

श्रीकांतसेचेल्लमसरतकखूबवायरलहोरहेहैंमीमक्या Paytm के शेयर 450 रुपये से भी नीचे आएंगे? बीएसई में सफाई के बाद भी नहीं थमी गिरावट******paytmHighlightsबॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) में सफाई देने के बाद भी बुधवार को पेटीएम के शेयर में गिरावट नहीं थमी रही है। बाजार बंद होने पर पेटीएम का शेयर 4.04% टूटकर 522 रुपये के भाव पर बंद हुआ। ऐसे में क्या मार्केट रिसर्च कंपनी मैक्वायरी कैपिटल सिक्योरिटीज (इंडिया) का अनुमान जल्द ही सही होता तो नहीं दिख रहा है। मैक्वायरी के एनालिस्ट सुरेश गणपति को पेटीएम के शेयरों 450 रुपये तक आने का अनुमान लगाया था। वहीं, कई बाजार विशेषज्ञों का कहना है कि जिस तरह से शेयर में लगातार गिरावट आ रही है वह कंपनी में किसी बड़े खतरे का संकेत दे रहा है। ऐसे में शेयर 450 रुपये से नीचे चला जाए तो इसमें आश्चर्य नहीं करना चाहिए।गौरतलब है कि पेमेंट कंपनी पेटीएम ने पिछले साल नवंबर में आईपीओ लेकर आई थी। आईपीओ में एक शेयर की कीमत 2150 रुपये तय की गई थी। कंपनी का शेयर 18 नवंबर, 2021 को शेयर बाजार पर सूचीबद्ध हुआ था। तब से लेकर इमसें लगातार गिरावट आ रही है।One97 Communications का स्टॉक जब बाजार में सूचीबद्ध हुआ था और अपने उच्चतमर स्तर 1,961 रुपये पर गया था तो कंपनी का मार्केट कैप 1 लाख करोड़ रुपये के पार निकल गया था। अब जब शेयर में लगातार गिरावट आ रही है तो कंपनी का मार्केट कैप घटकर 34,008 करोड़ रुपये आ गया है। इस तरह निवेशकों को करीब 66 हजार करोड़ रुपये का नुकसान हो चुका है।पेटीएम के शेयर में लगातार आ रही गिरावट के चलते बीएसई ने पेटीएम को नोटिस भेजकर सफाई देने को कहा था। बीएसई के नोटिस का जवाब देते पेटीएम ने बताया कि उसे इसका कारण नहीं मालूम है। कंपनी ने कहा कि वह लिस्टिंग से जुड़े सभी नियमों का पालन कर रही है और हमेशा टाइमलाइन के अंदर ही स्टॉक एक्सचेंजेज को सारी जरूरी जानकारियां दे रही है। कंपनी ने कहा, हमने ऐसी कोई सूचना नहीं दी है या ऐसा कोई ऐलान नहीं किया है, जिससे हमारी कंपनी के शेयर के प्राइस या वॉल्यूम पर असर है। कंपनी ने दावा किया है कि उसके बिजनेस में लगातार ग्रोथ है। ऐस में शेयर क्यों लगातार टूट रहे हैं इसका कारण पता नहीं है।श्रीकांतसेचेल्लमसरतकखूबवायरलहोरहेहैंमीमManish Sisodia: मनीष सिसोदिया की बढेंगी मुश्किलें, शराब घोटाला मामले में हो सकती है ED की एंट्री******Highlights दिल्ली के कथित शराब घोटाले में उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया की मुश्किलें और भी बढ़ने वाली हैं। सूत्रों के अनुसार इसी मामले में जल्द ही ED की भी एंट्री होने वाली है। खबर के अनुसार, जांच एजेंसी सीबीआई के द्वारा छापे में मिले सबूत और जानकारियां एजेंसी ED के साथ साझा कर रही है।सूत्रों के अनुसार, सीबीआई ने ED के साथ केस की कई अहम जानकारियां और कई सबूत साझा किये हैं। जिसके बाद ED कंपनियों के जरिये हुई मनी ट्रांजेक्शन को खंगाल रही है। जल्द ही ED PMLA एक्ट के तहत मामला दर्ज करके कार्रवाई शुरू कर सकती है।गौरतलब है कि दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) समेत 13 आरोपियों के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया गया है। आबकारी घोटाले में ये बड़ी कार्रवाई की गई है। बता दें कि लुक आउट सर्कुलर तब जारी किया जाता है, जब आरोपी की विदेश यात्रा पर रोक लगानी हो। सर्कुलर जारी होने से अब मनीष सिसोदिया के देश छोड़ने पर रोक लग गई है।दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी होने के बाद केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री पर हमलावर हो गए हैं। उन्होंने एक ट्वीट के जरिए पीएम मोदी पर हमला बोलते हुए कहा है कि ये क्या नौटंकी है। उन्होंने कहा मैं खुलेआम दिल्ली में घूम रहा हूँ, बताइए कहां आना है?उपमुख्यमंत्री सिसोदिया ने ट्वीट करते हुए कहा कि, "आपकी सारी रेड फेल हो गयी, कुछ नहीं मिला, एक पैसे की हेरा फेरी नहीं मिली, अब आपने लुक आउट नोटिस जारी किया है कि मनीष सिसोदिया मिल नहीं रहा। ये क्या नौटंकी है मोदी जी? मैं खुलेआम दिल्ली में घूम रहा हूँ, बताइए कहाँ आना है? आपको मैं मिल नहीं रहा?"सिसोदिया ने कहा था कि अगले 2 से 3 दिन में सीबीआई मुझे गिरफ्तार कर लेगी और मेरे अलावा कई सारे आम आदमी के नेताओं को भी गिरफ्तार करेगी। हम भगत सिंह की संतान हैं। हम आपकी सीबीआई-ईडी से डरने वाले नहीं है, हम आपके पैसों के आगे बिकने वाले लोग नहीं है। सिसोदिया ने कहा कि आप हमको नहीं तोड़ पाओगे। अगर इनको शराब के घोटाले की चिंता होती तो यह लोग गुजरात में सीबीआई का पूरा मुख्यालय शिफ्ट करा देते जहां हर साल 10,000 करोड़ रुपए की एक्साइज चोरी होती है।

The Family Man 2: 'श्रीकांत' से 'चेल्लम सर' तक, खूब वायरल हो रहे हैं मीम

श्रीकांतसेचेल्लमसरतकखूबवायरलहोरहेहैंमीमTadap Box Office Collection Day 3: अहान शेट्टी-तारा सुतारिया की 'तड़प' के लिए सिनेमाघरों में लगातार बढ़ रहे हैं दर्शक, अब तक हुई इतनी कमाई******Highlightsबॉक्स ऑफिस इंडिया के मुताबिक,अहान शेट्टी-तारा सुतारिया की तड़प ने यूपी, बिहार, एमपी और गुजरात में अपना सबसे अच्छा कारोबार किया है। जबकि फिल्म का दिल्ली, पंजाब, कोलकाता और बैंगलोर जैसी जगहों में उतना अच्छा प्रदर्शन दिखा।इस फिल्म को जॉन अब्राहम की सत्यमेव जयते 2 की तुलना में बेहतर ओपनिंग मिली। तड़प को अक्षय कुमार की बेल बॉटम और कंगना रनौत की थलाइवी और सूर्यवंशी और अंतिम: द फाइनल ट्रुथ के बाद 2021 की तीसरी सबसे ओपनिंग मिली है। चूंकि तड़प को क्रिटिक्स और दर्शकों से मिली जुली प्रतिक्रिया मिल रही है। मगर ऐसी उम्मीद की जा रही है वीकेंड पर फिल्म बॉक्स ऑफिस पर बेहतर परफॉर्म करेगी।यह फिल्म नाडियाडवाला ग्रैंडसन एंटरटेनमेंट बैनर के तहत साजिद नाडियाडवाला की तरफ से प्रोड्यूस की गई है। फिल्म में सौरभ शुक्ला और कुमुद मिश्रा भी महत्वपूर्ण भूमिकाओं में हैं। फिल्म को मिलन लुथरिया की तरफ से डायरेक्ट किया गया है, जो 'टैक्सी नंबर 9211', 'द डर्टी पिक्चर', 'वन्स अपॉन ए टाइम इन मुंबई' और अन्य शानदार फिल्मों के लिए जाने जाते हैं। यह तेलुगु हिट की 'आरएक्स 100' की ऑफिशियल रिमेक हैं। जिसमें मुख्य भूमिकाओं में कार्तिकेय गुम्माकोंडा और पायल राजपूत थे।श्रीकांतसेचेल्लमसरतकखूबवायरलहोरहेहैंमीमRajat Sharma's Blog : हिजाब को लेकर कुछ मुस्लिम लड़कियों का किसने किया ब्रेनवॉश?******देश के कई शहरों में शुक्रवार को मुसलमानों ने विरोध प्रदर्शन किया जिससे 'हिजाब' विवाद ने और जोर पकड़ लिया है। वहीं इस मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि वह उचित समय पर सभी याचिकाओं पर विचार करेगा।चीफ जस्टिस एन. वी. रमन्ना ने कहा, 'हम देख रहे हैं कि क्या हो रहा है। आपको भी यह सोचना चाहिए कि क्या इसे राष्ट्रीय स्तर पर लाना उचित है। हम संवैधानिक तौर पर बाध्य हैं और अगर मौलिक या संवैधानिक अधिकारों का उल्लंघन होता है तो केवल एक नहीं बल्कि हर समुदाय के अधिकारों की हम रक्षा करेंगे। हम उचित समय पर इस मामले में हस्तक्षेप करेंगे।'चीफ जस्टिस ने कहा- अभी मैं केस की मेरिट पर कुछ नहीं कहना चाहता। इन चीजों को व्यापक स्तर पर न फैलाएं।... इसे सांप्रदायिक या राजनीतिक न बनाएं, पहले संवैधानिक सवालों पर हाईकोर्ट को फैसला करने दें।चीफ जस्टिस एन. वी. रमन्ना, जस्टिस ए.एस. बोपन्ना और जस्टिस हिमा कोहली की बेंच ने कर्नाटक हाईकोर्ट के अंतरिम आदेश को चुनौती देनेवाली याचिकाओं पर सुनवाई के दौरान यह टिप्पणी की। कर्नाटक हाईकोर्ट ने अपने अंतरिम आदेश में उन शिक्षण संस्थानों में धर्मिक कपड़े पहनने पर रोक लगा दी है जिनमें यूनिफॉर्म पहले से निर्धारित है। याचिकाओं पर वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल बहस कर रहे थे। विवाद पर ये याचिकाएं दो मुस्लिम छात्राओं, आयशात शिफा और तरीन बेगम और यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष बी.वी. श्रीनिवास की ओर से दाखिल की गई थी। इन याचिकाओं में मुसलमानों के 'धार्मिक अधिकार' को लागू करने की मांग की गई थी। कर्नाटक हाईकोर्ट में इस मामले पर अगली सुनवाई सोमवार को होगी।इस बीच शुक्रवार को सूरत, मालेगांव, अलीगढ़, अमरावती और लातूर जैसे शहरों में विरोध प्रदर्शन हुए जबकि मुंबई, हैदराबाद, दिल्ली, भोपाल और लुधियाना की कई मस्जिदों में इमामों ने इस मुद्दे पर अपनी बात रखी और मुस्लिम छात्राओं के 'हिजाब' पहनने के अधिकार का बचाव किया।उधर, महाराष्ट्र के मालेगांव में जमीयत उलेमा-ए-हिंद ने शुक्रवार को मुस्लिम महिलाओं की एक बड़ी मीटिंग बुलाई। इस मीटिंग में बुर्का पहनी हजारों महिलाएं शामिल हुई और उन्हें यह बताया गया कि हिजाब या बुर्का पहनना उनका धार्मिक अधिकार और कर्तव्य है। इस मीटिंग में वक्ताओं ने कहा, यह पैगंबर का आदेश था कि सभी मुस्लिम महिलाओं को बुर्का या हिजाब पहनना चाहिए और धरती का कोई कानून इसे रोक नहीं सकता। जमीयत ने शुक्रवार को 'हिजाब दिवस' मनाने का ऐलान किया था जिसके चलते नासिक और मालेगांव में सुरक्षा बढ़ा दी गई थी।मालेगांव की मीटिंग को एआईएमआईएम के विधायक मुफ्ती इस्माइल ने भी संबोधित किया। वहीं शरद पवार की राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने भी मालेगांव में विरोध प्रदर्शन किया। एआईएमआईएम ने अमरावती में जिला कलेक्ट्रेट के बाहर धरना दिया। यह धरना मुस्लिम महिलाओं द्वारा दिया। महाराष्ट्र में लातूर के पास उदगीर में जमीयत के बैनर तले हिजाब को लेकर मुस्लिम महिलाओं द्वारा विरोध प्रदर्शन किया गया। एआईएमआईएम के बैनर तले गुजरात के सूरत में महिलाओं ने मौन मार्च निकाला। वहीं मुंबई के भिंडी बाजार स्थित हांडीवाली मस्जिद में शुक्रवार की नमाज में शामिल होने पहुंचे लोगों ने विरोध के तौर पर काली पट्टी बांध रखी थी।अब जरा एक नजर इस बात पर डालते हैं कि हिजाब को लेकर प्रगतिशील मुस्लिम बुद्धिजीवी क्या सोचते हैं। केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान ने शुक्रवार को इंडिया टीवी को दिए एक इंटरव्यू में कहा कि 'अगर समाज द्वारा हिजाब को एक अनिवार्य प्रथा के तौर पर स्वीकार किया जाता है तो मुस्लिम महिलाओं के हितों पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा। अंत में कुल मिलाकर देश पर बुरा असर पड़ेगा, क्योंकि ऐसी स्थिति में हमरा देश मुस्लिम महिलाओं द्वारा किए जा रहे अच्छे कामों से वंचित रह जाएगा।'आरिफ मोहम्मद खान ने कहा, ‘अगर 'हिजाब' को सामाजिक मान्यता के रूप में स्वीकार किया जाता है, तो हम पुराने दिनों में वापस आ जाएंगे जब महिलाओं की भूमिका उनके घरों तक ही सीमित थी, 'चिराग-ए-खाना (घर के अंदर दीपक), या 'शम-ए-महफिल' (महफिल में मनोरंजन करने वाली) जैसी भूमिका रह जाएगी। उन आधुनिक मुस्लिम महिलाओं का क्या होगा जो एक दिन में 20 मरीजों की देखभाल करती हैं? क्या आप उन्हें 'चिराग-ए-खाना' कहेंगे? वह समाज के लिए एक 'चिराग' (रोशनी) है। क्या आप उन महिलाओं को 'शम-ए-महफिल' कहेंगे जो आज लड़ाकू विमान उड़ा रही हैं और देश के लिए अपनी जान देने को तैयार हैं?'शुक्रवार की रात अपने प्राइम टाइम शो में हमने दिखाया कि कैसे एक चरमपंथी मुस्लिम संगठन ने कुछ मुस्लिम छात्राओं का ब्रेनवॉश किया और उनके जरिए 'हिजाब' का मुद्दा उठाया। दरअसल, इन लड़कियों ने इससे पहले अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के एक विरोध मार्च में हिस्सा लिया था। जिसके बाद इस्लामी चरमपंथियों ने उन्हें एबीवीपी को छोड़कर मुस्लिम छात्रों के संगठन में शामिल होने के लिए कहा था। काफी सूझबूझ से योजना बनाने के बाद इसे अंजाम दिया गया। उडुपी के महिला कॉलेज की जो 6 लड़कियां हिजाब पहनकर आने की जिद पर अड़ गई थीं वे सभी मुस्लिम छात्र संगठन कैम्पस फ्रंट ऑफ इंडिया (सीएफआई) की सक्रिय सदस्य हैं।इन लड़कियों की पूरी क्रोनोलॉजी काफी रोचक है। दरअसल पूरा विवाद चार महीने पहले अक्टूबर माह से शुरू हुआ था। पिछले साल 29 अक्टूबर को उडुपी के मणिपाल में एबीवीपी के एक विरोध प्रदर्शन में हिजाब विवाद से जुड़ी 6 लड़कियां शामिल हुई थी। यह विरोध-प्रदर्शन एबीवीपी ने रेप की घटना के विरोध में किया था। उस वक्त की कुछ तस्वीरें और वीडियो भी सामने आए जिनमें हिजाब पहनी तीन लड़कियां दिख रही हैं। हमारे संवाददाता टी. राघवन की रिपोर्ट के मुताबिक, इन मुसलिम लड़कियों की तस्वीरें सामने आने के बाद कट्टरपंथी संगठन पॉपुलर फ्रन्ट ऑफ इंडिया (PFI) और सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया (SDPI) के लोग एक्टिव हो गए। इन लोगों ने एबीवीपी के प्रदर्शन में शामिल इन लड़कियों और उनके माता-पिता से मुलाकात की और उन्हें एबीवीपी से अलग होने के लिए कहा। इन लड़कियों को समझाया गया कि इस्लाम में महिलाओं को ऐसे प्रदर्शन में हिस्सा लेने की इजाज़त नहीं है और अगर लड़कियां सक्रियता दिखानी चाहती हैं तो फिर इस्लाम की हिफाज़त के लिए आगे आएं।7 नवम्बर को इन 6 लड़कियों को पीएफआई के समर्थन वाले स्टूडेंट विंग कैम्पस फ्रन्ट ऑफ इंडिया (सीएफआई) में शामिल कर लिया गया। पहले इन लड़कियों का कोई सोशल मीडिया अकाउंट नहीं था। नवंबर के पहले हफ्ते में इन लड़कियों ने ट्विटर पर अपना अकाउंट बनाया और फिर जिन मुद्दों को लेकर सीएफआई लड़ता है, उसी के हिसाब से ट्वीट करना शुरू कर दिया।सोशल मीडिया एक्टिविस्ट विजय पटेल ने इन लड़कियों की ट्विटर पर होनेवाली गतिविधियों की पूरी पड़ताल की। विजय पटेल का कहना है कि सीएफआई में शामिल होने के बाद ही लड़कियों का झुकाव कट्टरपंथ की तरफ हुआ। ये लड़कियां सोशल मीडिया के जरिए सीएफआई का एजेंडा फैलाने लगीं। दिसंबर के पहले हफ्ते में अचानक देखा गया कि ये 6 लड़कियां क्लास रूम के अंदर भी हिजाब पहनकर आने लगीं। कॉलेज टीचर्स ने जब आपत्ति जताई तो इन लड़कियों ने उडुपी के डिप्टी कमिश्नर को ज्ञापन दे दिया और कॉलेज में हिजाब पहनने की इजाजत देने की मांग की।शुरुआत में डिप्टी कमिश्नर ने मामले की जांच की बात कहते हुए कुछ दिनों तक इन लड़कियों को हिज़ाब पहनकर बैठने की अनुमति दी लेकिन इसी दौरान कॉलेज में पढ़नेवाले हिंदू लड़के इसके विरोध में खड़े हो गए। चेतावनी दी गई कि अगर उडुपी महिला कॉलेज में लड़कियों को हिजाब पहनकर क्लास रूम में बैठने की अनुमति दी गयी तो वे भी भगवा गमछा पहनकर कॉलेज आएंगे। यहीं से पूरा विवाद आगे बढ़ने लगा। हिंदू लड़के भी भगवा गमछा पहनकर कॉलेज आने लगे। 27 दिसंबर से इन मुस्लिम लड़कियों ने 'हिजाब' पहनकर कैंपस के बाहर 'धरना' देना शुरू कर दिया। सीएफआई के लोगों ने इन लड़कियों की पूरी मदद की। जल्द ही यह विवाद उडुपी के अन्य कॉलेजों में भी फैल गया। हिज़ाब बनाम भगवा प्रदर्शन की शुरुआत हो गई। धीरे-धीरे एक सोची समझी प्लांनिग के तहत इसे पूरे राज्य में फैलाकर एक अंतरराष्ट्रीय मुद्दा बना दिया गया। अब हालात यह है कि कर्नाटक में कॉलेज 15 फरवरी तक बंद कर दिए गए हैं वहीं सुरक्षाबलों ने शुक्रवार को उडुपी में फ्लैग मार्च किया।यहां इस बात पर ध्यान देने की ज़रूरत है कि हिजाब पहनकर स्कूल-कॉलेज जाने के लिए उकसाने वाले कौन हैं ? हिजाब पर एक कॉलेज में लगी रोक को मुसलमानों पर जुल्म करार देने वाले कौन हैं ? हिजाब को कुरान की हिदायत बताकर, एक स्कूल-कॉलेज के मसले को इस्लाम पर हमला बताने वाले लोग कौन हैं? स्टूडेंट्स को हिजाब के नाम पर खड़ा करने वाले कौन हैं? वे कौन लोग हैं जो 'हिजाब' मुद्दे पर मुसलमानों को लामबंद करने की कोशिश कर रहे हैं?35 साल से उडुपी के इस कॉलेज में कोई लड़की हिजाब पहनकर नहीं आती थी लेकिन एक दिन ये लड़कियां एक वकील के साथ आईं और इतना बड़ा विवाद खड़ा हो गया। लड़कियों के साथ जो वकील आया वह सीएफआई से जुड़ा था। सीएफआई चरमपंथी इस्लामी संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) का स्टूडेंट विंग है।पीएफआई वही जेहादी संगठन है जिसके सदस्यों ने केरल में वर्ष 2010 में ईशनिंदा के आरोप में एक प्रोफेसर टीजे जोसेफ के हाथ काटे थे। प्रोफेसर टीजे जोसेफ न्यूमैन कॉलेज, थोडुपुझा में एक क्रिश्चियन अल्पसंख्यक संस्थान में मलयालम पढ़ाते थे। यह संस्थान महात्मा गांधी विश्वविद्यालय से मान्यता प्राप्त है। प्रोफेसर जोसेफ ने एक प्रश्न पत्र सेट किया था जिसमें कथित तौर पर उन्होंने पैगंबर का अपमान किया था।क्या यह सिर्फ संयोग है कि हिजाब प्रोटेस्ट के पीछे पीएफआईहै? या फिर यह एक प्रयोग है जो पीएफआई दोहराना चाहती है। एक ऐसा प्रयोग जिसके तहत हिजाब के नाम पर देशभर में आंदोलन खड़ा करने का रास्ता कुछ लोगों को दिखाई देता है। हिजाब पर स्कूल-कॉलेजों में लगी रोक को मुसलमानों पर जुल्म करार देने का इरादा एक सोची समझी साजिश है जिसका देश के आम मुसलमान से कोई लेना-देना नहीं है। आपको याद होगा कि पीएफआई का नाम शाहीन बाग को लेकर भी काफी आया था। ये वही लोग हैं जिन्होंने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर धरने का आयोजन किया था। और अब हिजाब को बहाना बनाया जा रहा है।चूंकि यह सवाल ऐसे वक्त में उठाया गया है जब यूपी में चुनाव हैं तो राजनीतिक दलों में इस बात की भी होड़ शुरू हो गई है कि कौन मुसलमानों का कितना बड़ा हिमायती है। भड़काने वाले बयान दिए जा रहे हैं। समाजवादी पार्टी की एक नेता ने कहा कि हिजाब पर हाथ डालने वालों के हाथ काट देने चाहिए। पिछले कुछ दिनों में तरह-तरह के व्हाट्सअप मैसेज सर्कुलेट हुए। पैटर्न वही पुराना है लेकिन लगता है कि इस बार लोग समझ चुके हैं, इसलिए बात ज्यादा नहीं बढ़ी। लेकिन इस पूरे मामले में पाकिस्तान को भारत को बदनाम करने का मौका मिला और उसने भारत की छवि खराब करने की कोशिश की। इसलिए सबको सावधान रहने की ज़रूरत है। यह मामला कोर्ट के सामने है। सबको अदालत पर भरोसा रखना चाहिए।श्रीकांतसेचेल्लमसरतकखूबवायरलहोरहेहैंमीमHeat Wave Alert: दिल्ली-UP समेत इन राज्यों में हीट वेव का अलर्ट, जानें IMD का ताजा अपडेट******HighlightsIMD Heat Wave Alert: अभी अप्रैल का पहला सप्ताह ही चल रहा है और देश के अधिकांश राज्य भीषण गर्मी और लू की चपेट से जूझ रहे हैं। तेज धूप के कारण लोगों का जीना मुहाल हो गया है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने कहा है कि उत्तर पश्चिमी हिस्से व मध्य भारत में अगले 5 दिन तक गर्मी से राहत मिलने के आसार नहीं हैं। IMD ने कहा है कि पश्चिम उत्तर और मध्य भारत में भीषण गर्मी पड़ने के आसार हैं और हीट वेव के कारण लोगों को सतर्क रहने की जरूरत है।IMD ने अगले पांच दिनों के लिए अलर्ट जारी किया है। आईएमडी ने मुताबिक, अगले 5 दिनों के दौरान उत्तर प्रदेश, राजस्थान, दक्षिण पंजाब, दक्षिण हरियाणा-दिल्ली, मध्य प्रदेश, विदर्भ, बिहार और झारखंड में लू चलने की संभावना है। साथ ही 9 और 10 अप्रैल को तेज हीटवेव का सामना करना पड़ सकता है। इसके अलावा अगले 3 दिनों तक गुजरात के उत्तरी भागों में हीट वेव का प्रकोप देखने को मिलेगा। वहीं हिमाचल प्रदेश, विदर्भ, बिहार के कुछ हिस्सों, जम्मू क्षेत्र और छत्तीसगढ़ के कुछ हिस्सों में हीटवेव की स्थिति संभव है।यहां होगी बारिशIMD ने देश की कुछ जगहों में बारिश की भी संभावना जताई है। IMD के मुताबिक, अगले 24 घंटों के दौरान, हिमाचल प्रदेश, असम, सिक्किम और उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है। इसके अलावा केरल और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में अलग-अलग स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश की संभावना है। तमिलनाडु, कर्नाटक और दक्षिण मध्य महाराष्ट्र में हल्की बारिश होगी।दिल्ली में अगले 7 दिन तक लू का अलर्ट जारी किया गया हैराष्ट्रीय राजधानी दिल्ली इन दिनों भीषण गर्मी की चपेट में है। दिल्ली के कुछ इलाकों में पिछले 10 दिनों से हीटवेव चल रही है। अधिकतम तापमान 40 से 42 डिग्री के आसपास बना हुआ है।मौसम विभाग ने शहर में अगले चार से 7 दिनों तक लू का अलर्ट जारी किया है। आईएमडी के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र का कहना है कि उत्तर पश्चिम भारत और इससे लगे मध्य भारत के इलाकों में अप्रैल में कहीं अधिक भीषण गर्मी पड़ने और लगातार ‘लू’ चलने के आसार हैं। कुछ हिस्सों में 15 अप्रैल तक लू चल सकती है।पश्चिमी राजस्थान के कई हिस्सों में पारा 45 डिग्री से भी ज्यादा पहुंच गया है। जालौर में अधिकतम तापमान 45 डिग्री सेल्सियस से अधिक दर्ज किया गया है। डॉक्टरों का कहना है कि गर्मी बढ़ने या लू चलने पर लोगों को दोपहर में 3 बजे तक बाहर निकलने या धूप से बचने की कोशिश करनी चाहिए।

The Family Man 2: 'श्रीकांत' से 'चेल्लम सर' तक, खूब वायरल हो रहे हैं मीम

श्रीकांतसेचेल्लमसरतकखूबवायरलहोरहेहैंमीमBreast Removal Surgery: आखिर क्या है ब्रेस्ट रिमूवल सर्जरी, युवतियों में इसका चलन क्यों बढ़ रहा ?******Highlightsब्रेस्ट रिमूवल सर्जरी के बारे में आपने क्या कभी सुना है। युवतियों में आखिर क्यों इसका चलन लगातार बढ़ता जा रहा है। क्या ये कोई फैशन है या फिर गंभीर समस्या, जिसके लिए युवतियां ब्रेस्ट रिमूवल सर्जरी करवा रही हैं। दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में गत तीन वर्षों में ऐसी 30 युवतियां ब्रेस्ट रिमूवल सर्जरी करा चुकी हैं। आखिर इसकी जरूरत क्यों पड़ रही है? ज्यादातर लड़कियां इस आशंका में यह सर्जरी करवा रही हैं कि अगर ये नहीं कराया तो उनकी शादी में व्यवधान हो सकता है या फिर उनके जीवन को खतरा हो सकता है। आइए आपको बताते हैं कि ये है क्या।एम्स के आंकोलॉजी विभाग में ब्रेस्ट रिमूवल सर्जरी की लंबी फेहरिस्त है। एक के बाद एक युवतियां अपने ब्रेस्ट को रिमूव कराने के लिए यहां पहुंच रही हैं। इसके लिए उनके मन में अजीब सा डर है। यह डर है कैंसर का। अगर किसी की मां को ब्रेस्ट कैंसर रहा है तो मुमकिन है कि यह ब्रेस्ट कैंसर उसकी बेटी को भी अपना शिकार बना ले। इसमें ब्रेस्ट में टेनिस के आकार की गांट निकलने लगती है, जिसका साइज बाद में बढ़ने लगता है। अगर इस पर ध्यान नहीं दिया गया तो यह बाद में फुटबाल जैसा आकार ले सकती है। यह ब्रेस्ट कैंसर होता है।नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ कैंसर प्रिवेंशन एंड रिसर्च के पूर्व डायरेक्टर रहे नोएडा के प्रो. डा. रवि मेहरोत्रा के अनुसार सभी मामलों में ऐसा जरूरी नहीं है। मगर कुछ मामलों में ऐसा देखा गया है कि यदि मां को ब्रेस्ट कैंसर पहले था तो उनकी बेटी में भी ब्रेस्ट कैंसर पाया गया। इसका खतरा तो रहता है। इसलिए जिनकी मां को पहले से ब्रेस्ट कैंसर रह चुका है, उनकी बेटियों को अधिक सतर्क रहने की आवश्यकता होती है। यदि उन्हें कभी भी ब्रेस्ट में गांठ जैसा कुछ महसूस हो तो तत्काल इसकी जांच करवाएं। प्रारंभिव स्टेज में ब्रेस्ट कैंसर का पता चल जाने पर इसका आसानी से इलाज हो सकता है। जितनी देर करेंगे, उतनी ही समस्या गंभीर होती जाएगी। एम्स में जिन युवतियों और महिलाओं ने ब्रेस्ट रिमूवल सर्जरी करवाई, उनमें ब्रेस्ट कैंसर को तेजी से बढ़ाने वाले एक्टिव जीन्स पाए गए थे। जेनेटिक टेस्टिंग के बाद ऐसी युवतियों ने ब्रेस्ट रिमूवल सर्जरी करवा ली। ताकि उन्हें ब्रेस्ट कैंसर न हो।डा. मेहरोत्रा के अनुसार इसके लिए दो जीन्स उत्तरदायी होते हैं। बीआरसीए-1 और बीआरसीए-2...ये दोनों जीन्स में से कोई भी यदि एक्टिव है तो ब्रेस्ट या ओवेरियन कैंसर होने का खतरा अधिक होता है। यदि मां में जेनेटिक टेस्टिंग में म्यूटेशन मिल रहा है तो उनकी बेटियों में 50 फीसद से अधिक खतरा ब्रेस्ट कैंसर का रहेगा। डा. रवि मेहरोत्रा इंडियन काउंसिल फॉर मेडिकल रिसर्च और इंडियन कैंसर रिसर्च कंसोर्टियम के सीईओ भी रहे हैं। उन्होंने बताया कि कैंसर को लेकर अब भी जागरूकता की बेहद कमी है। यदि अर्ली डिटेक्शन यानि जितना जल्दी बीमारी का पता लग जाए तो कैंसर को ठीक किया जा सकता है। प्राथमिक स्टेज में यह सिर्फ दवाओं से ठीक हो सकता है, लेकिन गंभीर होने की स्थिति में मैमोग्राफी, कीमोथेरैपी और रेडिएशन जैसी प्रक्रियाओं के जरिये इलाज किया जाता है, जो तकलीफदेह भी हो सकता है।डा. मेहरोत्रा के अनुसार कई बार पुरुषों में भी ब्रेस्ट कैंसर देखने को मिल सकते हैं। यह भी वंशानुगत हो सकते हैं। निप्पल से तरल का डिस्चार्ज होना, सूजन, लाल चकत्ते, गांठ इत्यादि इसके लक्षण हो सकते हैं। वहीं महिलाओं में हार्मोन स्तर ऊपर-नीचे होने लगते हैं। इससे कैंसर कोशिकाएं असामान्य रूप से बढ़ने लगती हैं। इसलिए कैंसर के प्रति जागरूकता जरूरी है।श्रीकांतसेचेल्लमसरतकखूबवायरलहोरहेहैंमीमऋतिक रोशन-दीपिका पादुकोण की 'फाइटर' को मिली नई रिलीज डेट, अब 28 सितंबर, 2023 को आएगी******Highlightsऋतिक रोशन और दीपिका पादुकोण बॉलीवुड के दो ऐसे सितारे हैं जो अपनी अपनी जगह पर सुपरस्टार हैं। फैंस दोनों को साथ देखना चाहते थे और आखिर उनकी ख्वाहिश पूरी होने वाली है। दोनों की बड़ी फैन फॉलोइंग है और उनके प्रशंसक उनकी तस्वीरों के रिलीज होने का इंतजार कर रहे हैं। ऋतिक रोशन और दीपिका पादुकोण के प्रशंसकों के लिए आज अच्छी खबर है। फिल्म 'फाइटर' की रिलीज की तारीख सामने आ गई है। सिद्धार्थ आनंद द्वारा निर्देशित, यह फिल्म 28 सितंबर, 2023 को रिलीज होगी। उनके अलावा, फिल्म में अनिल कपूर भी महत्वपूर्ण भूमिका में हैं।ऋतिक रोशन ने अपने इंस्टाग्राम पर इस खबर की घोषणा करने के लिए एक वीडियो पोस्ट किया। अनाउंसमेंट वीडियो के मुताबिक 'फाइटर' भारत की पहली एरियल एक्शन फिल्म है। पहले फिल्म 26 जनवरी, 2023 को रिलीज़ होने वाली थी। बहुप्रतीक्षित फिल्म में ऋतिक रोशन और सिद्धार्थ आनंद के तीसरी बार पुनर्मिलन भी है, क्योंकि इससे पहले उन्होंने कैटरीना कैफ के साथ बैंग बैंग और टाइगर श्रॉफ के साथ 'वॉर' में काम किया था।

The Family Man 2: 'श्रीकांत' से 'चेल्लम सर' तक, खूब वायरल हो रहे हैं मीम

श्रीकांतसेचेल्लमसरतकखूबवायरलहोरहेहैंमीमBank Fraud: 28 बैंकों के साथ 22,842 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी, CBI ने मामला दर्ज किया******Highlights देश का सबसे बड़ा बैंक फ्रॉड सामने आया है। एसबीआई के डीजीएम ने गुजरात, कंपनियों और डायरेक्टर्स पर 22842 करोड़ रुपए के घोटाले का आरोप लगाया है। नीरव मोदी के बाद अब तक का ये सबसे बड़ा बैंक फ्रॉड सामने आया है।CBI अधिकारी ने शनिवार को बताया कि, CBI ने ABG शिपयार्ड और उसके निदेशकों के ख़िलाफ 28 बैंकों के साथ 22,842 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी करने के आरोप मेंएफआईआर दर्ज की है। कंपनी जहाज़ निर्माण और जहाज़ की मरम्मत में लगी हुई है। इसके शिपयार्ड गुजरात के दहेज और सूरत में स्थित हैं। ने स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, वर्ल्ड ट्रेड सेंटर, कफे परेड, कोलाबा मुंबई ब्रांच के डीजीएम श्री बालाजी सिंह समानता की 25.8.2020 की शिकायत पर M/s ABG shipyard ltd, magdala village, off Dumas road, surat, gujrat कंपनी, ऋषि कमलेश अग्रवाल, चेयरमेन एंड मैनेजिंग डायरेक्टर, गेरेंटर संथानम मुथास्वामी, एक्सिकव्यूटीव डायरेक्टर अश्वनी कुमार, डायरेक्टर सुशील कुमार अग्रवाल, डायरेक्टर रवि विमल निवेदिता, डायरेक्टर M/S ABG international pvt ltd कंपनी और अज्ञात सरकारी लोगों के खिलाफ आपराधिक साजिश, चीटिंग, क्रिमिनल बीच ऑफ ट्रस्ट, पोस्ट का दुरप्रयोग करके consortium ऑफ बैंक, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, ई स्टेट बैंक ऑफ पटियाला (मौजूदा स्टेट बैंक ऑफ इंडिया), ई स्टेट बैंक ऑफ Travancore (मौजूदा स्टेट बैंक ऑफ इंडिया) जिसे आईसीआईसी बैंक लीड कर रहा था इन बैंकों को टोटल 22,842 करोड़ रुपए का नुकसान पहुँचाने के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया है।शिकायत में मौजूद आरोप और फैक्ट्स के मुताबिक, आईपीसी 120बी, 409,420 और 13(2), 13(1) (d), ऑफ प्रिवेंशन औ करप्शन एक्ट के तहतइन बैंकों के साथ देश का सबसे बड़ा बैंक घोटाला जो कि 22,842 करोड़ रुपए है सामने आया है, इससे पहले नीरव मोदी ने बैंकों के साथ 13,200 करोड़ रुपए के लगभग घोटाला किया था।

श्रीकांतसेचेल्लमसरतकखूबवायरलहोरहेहैंमीमAttack on california church: कैलिफोर्निया के गिरजाघर में हमला करने वाला चीनी प्रवासी गिरफ्तार, ताइवान के लोगों के प्रति नफरत के कारण किया हमला******Highlights कैलिफोर्निया के गिरजाघर पर घातक हमला करने वाला बंदूकधारी चीनी प्रवासी है, जिसने ताइवान के लोगों के प्रति नफरत के कारण हमला किया। प्राधिकारियों ने यह जानकारी दी। अमेरिका के दक्षिणी कैलिफोर्निया में रविवार को एक संदिग्ध ने एक गिरजाघर में आयोजित भोज में शामिल लोगों पर गोलीबारी की, जिसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई, और पांच अन्य लोग घायल हो गए। अधिकारियों ने बताया कि गिरजाघर में मौजूद लोगों ने असाधारण वीरता और बहादुरी का परिचय देते हुए हमलावर को पकड़ लिया।ओरेंज काउंटी के शेरिफ के विभाग ने ट्वीट किया कि हत्या करने और हत्या की कोशिश करने के आरोप में लास वेगास के डेविड चोउ (68) के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। अंडरशेरिफ जेफ हैलॉक के मुताबिक, संदिग्ध को हिरासत में ले लिया गया है और घटनास्थल से दो हैंडगन बरामद की गई हैं।शेरिफ की प्रवक्ता कैरी ब्रॉन के मुताबिक, गोलीबारी के समय गिरजाघर में मौजूद ज्यादातर लोग ताइवान मूल के बताए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि संदिग्ध ने सुबह की प्रार्थना सभा के बाद गिरजाघर में आयोजित भोज में शामिल इरविन ताइवानी प्रेस्बिटेरियन चर्च के 30 से 40 सदस्यों पर गोलीबारी की। पुलिस के मौके पर पहुंचने से पहले ही वहां मौजूद लोगों ने हमलावर को पकड़ लिया था।श्रीकांतसेचेल्लमसरतकखूबवायरलहोरहेहैंमीमHappy Mother's Day 2022 : आलिया भट्ट से लेकर विक्की-कैटरीना तक, इन बॉलीवुड सेलेब्स ने मां पर यूं लुटाया प्यार****** आज यानि 8 मई को पूरी दुनिया में सेलिब्रेट किया जा रहा है। इस दिन बच्चे अपनी मां को स्पेशल महसूस करवाने के लिए तरह-तरह की चीजें करते हैं। साथ ही हर कोई अपनी मां के प्रति अपने प्यार को जाहिर करते हैं। फिर चाहें आम हो या खास, हर किसी के जीवन में मां का एक अलग स्थान होता है।इस खास मौके पर न केवल आम बल्कि बॉलीवुड सेलेब्स भी अपनी-अपनी माओं के लिए इमोशनल मैसेज सोशल मीडिया पर शेयर कर रहे हैं। बॉलीवुड सेलेब्स जैसे कैटरीना कैफ, विक्की कौशल, आलिया भट्ट, करीना कपूर, जैसे कई सितारों ने प्यारी पोस्ट साझा कीं। देखिए तस्वीरें।हाल ही में एक बेटे की मां बनीं काजल अग्रवाल ने मदर्स डे के मौके पर बेटे के साथ अपनी एक खूबसूरत तस्वीर और एकबेहद प्यारा नोट भी लिखा।काजल ने बच्चे के साथ तस्वीर पोस्ट करते हुए लिखा - 'प्रिय नील, मैं चाहती हूं कि आप यह जानें कि आप कितने कीमती हैं और हमेशा मेरे लिए रहेंगे। जिस क्षण मैंने आपको अपनी बाहों में लिया था, आपका छोटा सा हाथ मेरे हाथ में थाम लिया, तुम्हारी गर्म सांसों को महसूस किया और तुम्हारी खूबसूरत आँखों को देखा, मुझे पता था कि मैं हमेशा के लिए प्यार में था। तुम मेरी पहली संतान हो। मेरा पहला बेटा। मेरा पहला सब कुछ, वास्तव में।'काजल ने आगे लिखा, 'आने वाले वर्षों में, मैं आपको हर चीज सिखाने की पूरी कोशिश करूंगी, लेकिन आपने मुझे पहले ही बहुत कुछ में सिखाया है। आपने मुझे सिखाया है कि माँ बनना क्या है। आपने मुझे निस्वार्थ होना सिखाया है। शुद्ध प्रेम। आपने मुझे सिखाया है कि एक होना संभव है मेरे शरीर के बाहर मेरे दिल का टुकड़ा। और यह इतनी डरावनी चीज है, लेकिन इससे भी ज्यादा, यह सुंदर है।'काजल अग्रवाल ने मदर्स डे के अवसर पर एक खूबसूरत कविता भी साझा की।मदर्स डे के अवसर पर करीना कपूर खान ने भी अपने बच्चों, तैमूर और जेह के साथ अपनी एक प्यारी सी तस्वीर साझा की। साथ ही बेबो ने कैप्शन में लिखा - 'मेरी जिंदगी की लंबाई और चौड़ाई हैप्पी मदर्स डे'महेश बाबू ने नम्रता शिरोधकर के साथ न केवल अपनी मां बल्कि अपने बच्चों की भी तस्वीरें पोस्ट कीं और लिखा- 'मेरी अम्मा को मेरी जीवन रेखा की मां को और दुनिया की सभी माताओं को मातृ दिवस की बहुत बहुत शुभकामनाएं! आपका प्यार अपूरणीय है.. सम्मान हमेशा!'आलिया भट्ट ने अपनी दो मांओं के साथ एक तस्वीर पोस्ट की और कैप्शन में लिखा - 'मेरी खूबसूरत खूबसूरत मां हैप्पी मदर्स डे - ऑल डे एवरीडे!'कैटरीना कैफ ने न केवल अपनी मां बल्कि अपनी मदर इन लॉ के साथ भी तस्वीरें पोस्ट कीं। इसके साथ ही कैटरीना ने कैप्शन में लिखा, "मदर्स डे।"विक्की कौशल ने भी अपनी मां और मदर इन लॉ के साथ तस्वीरें पोस्ट कीं। इसके साथ उन्होंने लिखा -"माँ विचारों का छाँव। 'हैप्पी मदर्स डे।'गौरी खान ने अपनी मां के साथ तस्वीरें साझा कीं और लिखा, 'हैप्पी मदर्स डे ..घर के कामों में सारा ड्रामा मिस कर रही हूँ।'शिल्पा शेट्टी ने अपने बच्चों के साथ वीडियो साझा किया और लिखा, 'हैप्पी बेबीज हैप्पी मॉमी मैं हर दिन एक मां होने का जश्न मनाती हूं।'नीतू कपूर ने माताओं के प्यार को दर्शाते हुए एक वीडियो साझा किया और कैप्शन में लिखा - 'यह प्यार है 'हैप्पी मदर्स डे।'बॉलीवुड के सुपरस्टार आमिर खान की अपनी प्यारी मां और फैमिली के साथ चंद मनमोहक तस्वीरों में नजर आए हैं।

श्रीकांतसेचेल्लमसरतकखूबवायरलहोरहेहैंमीमदिल्ली की वायु गुणवत्ता मध्यम श्रेणी में, अगले दो दिन में गुणवत्ता में गिरावट के आसार****** राष्ट्रीय राजधानी में बृहस्पतिवार को वायु गुणवत्ता ‘मध्यम’श्रेणी में दर्ज की गई लेकिन पंजाब और हरियाणा में पराली जलाने की बढ़ती घटनाओं की वजह से अगले दो दिन में इसमें गिरावट आने की आशंका है। भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान (आईएआरआई) के आंकड़ों के मुताबिक बृहस्पतिवार को दिल्ली के पड़ोसी राज्यों पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, राजस्थान और मध्य प्रदेश में पराली जलाने की 407 घटनाएं दर्ज की गई जिनमें से 229 मामले अकेले पंजाब से हैं।आंकड़ों के मुताबिक में बृहस्पतिवार को पराली जलाने की 98 घटनाएं और उत्तर प्रदेश में 68 घटनाएं दर्ज की गईं। जबकि एक दिन पहले इन पांचों राज्यों में कुल 272 पराली जलाने की घटनाएं सामने आई थी। पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के पूर्वानुमान लगाने वाले निकाय ‘सफर’ के मुताबिक दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) मध्यम श्रेणी में रहा जिसमें पीएम-10 मुख्य प्रदूषक था। सफर के मुताबिक, ‘‘शुष्क अवस्था होने की वजह से स्थानीय तौर पर धूल हवा में उड़ी जिसकी वजह से पीएम-10 का उच्च स्तर दर्ज किया गया। इसके अलावा रेगिस्तानी इलाकों से धूल कण उड़ के आने से भी इसके स्तर में वृद्धि हुई।’’पुणे स्थित भारतीय उष्णदेशीय मौसम विज्ञान संस्थान (आईआईटीएम) द्वारा विकसित डीसीजन सपोर्ट सिस्टम (डीएसएस) के मुताबिक दिल्ली में वेंटिलेशन इंडेक्स और हवा की गति अगले दो दिन औसत से कम रहेगी, जो प्रदूषकों के फैलने के लिए प्रतिकूल अवस्था है। आईआईटीएम ने बताया , हालांकि 17 और 18 अक्टूबर को बारिश की गतिविधियों की वजह से वायु गुणवत्ता में सुधार होगा क्योंकि यह प्रदूषण को हटाने के लिए अनुकूल अवस्था पैदा करते हैं। संस्थान ने बताया कि वायु गुणवत्ता कुल मिलाकर ‘मध्यम’ श्रेणी में रहने की संभावना है।उल्लेखनीय है कि पड़ोसी राज्यों में पराली जलाने की घटनाओं का दिल्ली के प्रदूषण में अहम योगदान होता है। आंकड़ों के मुताबिक छह अक्टूबर से अबतक पंजाब में पराली जलाने की 1,008 घटनाएं दर्ज की गई हैं जबकि हरियाणा में ऐसी घटनाओं की संख्या 463 है। इस अवधि में उत्तर प्रदेश, राजस्थान और मध्यप्रदेश में पराली जलाने की क्रमश: 260,35 और 16 घटनाएं दर्ज की गई हैं। जानकारी के मुताबिक 13 अक्टूबर को हरियाण में 91, पंजाब में 132 स्थानों और सटे पाकिस्तान में पराली जलाने की घटनाएं दर्ज की गई। आईआईटीएम ने बताया कि दिल्ली के वातावरण में बृहस्पतिवार को मौजूद पीएम2.5 में 10 प्रतिशत योगदान पराली का था।गौरतलब है कि पराली जलाने की घटनाओं की निगरानी सैटलाइट रिमोर्ट सेंसिंग प्रणाली से की जाती है। आंकड़ों के मुतबिक 15 सितंबर से 10 अक्टूबर के बीच पंजाब में पराली जलाने की 764 घटनाएं हुई हैं जबकि पिछले साल इसी अवधि में 2,586 घटनाएं दर्ज की गई थी। आईएआरआई के मुताबिक वर्ष 2016 के दौरान पंजाब में पराली जलाने की 1.02 लाख घटनाएं दर्ज की गई थी जबकि वर्ष 2017 में 67,076, वर्ष 2018 में 59,684, वर्ष 2019 में एक अक्टूबर से 30 नवंबर के बीच 50,738 और पिछले साल 79,093 घटनाएं दर्ज की गई थी।इसी प्रकार हरियाणा में वर्ष 2016 में पराली जलाने की 15,686 घटनाएं दर्ज की गई थी। राज्य में वर्ष 2017 में 13,085, वर्ष 2018 में 9,225, वर्ष 2019 में 6,364, वर्ष 2020 में 5,678 पराली जलाने की घटनाएं सामने आई।श्रीकांतसेचेल्लमसरतकखूबवायरलहोरहेहैंमीमCDS 2021 Result: CDS-2 2021 का रिजल्ट जारी, 214 लोगों ने पास की यह परीक्षा, ये है चेक करने का तरीका******HighlightsUPSC द्वारा आयोजित CDS परीक्षा (2), 2021 और रक्षा मंत्रालय के सेवा चयन बोर्ड द्वारा आयोजित साक्षात्कारों के परिणामों का रिजल्ट घोषित किया गया है। इन नतीजों के आधार पर 214 उम्मीदवारों ने 116वें शॉर्ट सर्विस कमीशन कोर्स के लिए ऑफिसर्स ट्रेनिंग एकेडमी (OTA), चेन्नई में प्रवेश हेतु अंतिम रूप से परीक्षा पास कर ली है। यह कार्यक्रम इसी वर्ष अक्तूबर, 2022 से शुरू होने वाला है। 116वें शॉर्ट सर्विस कमीशन कोर्स (पुरुषों के लिए) की सूची में उन उम्मीदवारों के नाम भी शामिल हैं, जिन्हें पहले इसी परीक्षा के परिणाम के आधार पर इंडियन डिफेंस एकेडमी, देहरादून, नौसेना अकादमी, इझीमला, केरल तथा वायु सेना अकादमी, हैदराबाद (उड़ान-पूर्व) प्रशिक्षण पाठ्यक्रम (पाठ्यक्रमों) में प्रवेश हेतु अनुशंसित किया गया था।सरकार द्वारा यथासूचित रिक्तियों की संख्या (1) 116वें शॉर्ट सर्विस कमीशन कोर्स (पुरुषों के लिए) के लिए 169 और (2) 30वें अल्पकालिक सेवा कमीशन महिला (गैर-तकनीकी) पाठ्यक्रम के लिए 16 है। संघ लोक सेवा आयोग के मुताबिक इस योग्यता सूची को तैयार करते समय उम्मीदवारों के स्वास्थ्य परीक्षण के परिणाम को ध्यान में नहीं रखा गया है। सभी उम्मीदवारों की उम्मीदवारी अंतिम है। इन उम्मीदवारों की जन्म-तिथि और शैक्षिक योग्यता की जांच सेना मुख्यालय द्वारा की जाएगी।ऐसे चेक कर सकते हैं अपना रिजल्टउम्मीदवार, परिणाम से संबंधित जानकारी संघ लोक सेवा आयोग की वेबसाइट से भी प्राप्त कर सकते हैं। तथापि, उम्मीदवारों के अंक, अंतिम परिणाम घोषित होने के 15 दिनों के अंदर आयोग की वेबसाइट पर उपलब्ध होंगे और ये 30 दिनों की अवधि के लिए उपलब्ध रहेंगे। यूपीएससी यानी संघ लोक सेवा आयोग का कहना है कि उम्मीदवारों का ध्यान गैर-अनुशंसित उम्मीदवारों के संबंध में अंकों तथा अन्य विवरणों के सार्वजनिक प्रकटन की योजना की ओर भी आकर्षित किया जाता है, जिसका विवरण आयोग की वेबसाइट पर उपलब्ध है।ऐसे गैर-अनुशंसित उम्मीदवार, अपने अंक डाउनलोड करते समय अपने विकल्प का चयन कर सकते हैं। संघ लोक सेवा आयोग का अपने परिसर में परीक्षा भवन के पास एक सुविधा काउंटर है। उम्मीदवार अपनी परीक्षा से संबंधित किसी प्रकार की जानकारी या स्पष्टीकरण कार्य दिवसों में प्रात 10 बजे से सायं 5 बजे के बीच व्यक्तिगत रूप से अथवा दूरभाष संख्या 011-23385271, 011-23381125 और 011-23098543 से प्राप्त कर सकते हैं।

श्रीकांतसेचेल्लमसरतकखूबवायरलहोरहेहैंमीमDumka Rape Case: दुमका में फिर हुई हैवानियत, नाबालिग से किया बलात्कार, फिर पेड़ से लटकी मिली लाश******Highlightsझारखंड के दुमका जिले में पिछले हफ्ते शाहरुख नाम के एक युवक ने एकतरफा प्यार में असफल होने पर 12वीं कक्षा में पढ़ने वाली 19 साल की युवती को जिंदा जला दिया जिससे उसकी मौत हो गई। इस घटना का गम और गुस्सा अभी शांत भी नहीं हुआ था कि दुमका से ही एक और जघन्य अपराध सामने आया है। दुमका में एक और लड़की को हैवानियत का शिकार होना पड़ा। ये लड़की नाबालिग बताई जा रही है। इतना ही नहीं बलात्कार के बाद लड़की का शव एक पेड़ से लटका मिला। इसके पहले गुरुवार को तालझारी में एक महिला का अधजला शव बरामद हुआ था। झारखंड से लगातार आ रही ऐसी घटनाओं पर भाजपा नेता बाबू लाल मरांडी ने सोरेन सरकार पर निशाना साधा है।इस घटना को लेकर बीजेपी नेता बाबूलाल मरांडी ने ट्वीट किया। मरांडी ने ट्वीट किया, "दुमका से यह खबर खून खौला देने वाली है। आरोप है कि इस आदिवासी युवती को कल अरमान अंसारी नाम के युवक ने बलात्कार के बाद हत्या कर पेड़ पर लटका दिया है? अरमान की गिरफ़्तारी हो गई है। और कितनी आदिवासी युवतियां ऐसे दरिंदों का शिकार होगी झारखंड में?" मरांडी ने अगले ट्वीट में सोरेन सरकार पर हमला करते हुए लिखा, "जेहादी एक संताल आदिवासी लड़की का रेप कर लाश लटका गए वो भी दुमका में ही। किसको बचा रहे हैं आप हेमंत सोरेन? शर्म करिये। आप और आपकी पुलिस जितना भी छुपा लें, हम इंसाफ़ दिलाएंगे।"सूत्रों ने बताया कि रंगलिया के कोचीया डगाल की रहने वाली युवती दुमका के जामा स्थित अपनी मौसी के घर काम करती थी। इस दौरान अरमान अंसारी नाम के एक मुस्लिम युवक से उसे प्रेम हो गया। प्रेम जाल में फंसकर लड़की गर्भवती हो गई। जब लड़की ने आरोपी अरमान पर शादी का दबाव बनाया तो उसने साजिश के तहत लड़की को मौत के घाट उतार दिया। इसके बाद पुलिस ने मामले में आईपीसी की धारा 376, 302 समेत पॉस्को एक्ट और SC-ST एक्ट के तहत केस दर्ज कर आरोपी अरमान को गिरफ्तार कर लिया है। डीआईजी सुदर्शन मंडल ने घटना की पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि लड़की की दुष्कर्म के बाद हत्या की गई।श्रीकांतसेचेल्लमसरतकखूबवायरलहोरहेहैंमीमस्वामी रामदेव से जानिए पेट की चर्बी और वजन कम करने का सबसे फास्ट फॉर्मूला******Highlightsलोगों के बढ़ते वजन को रोकने के लिए कई देश लगातार कोशिश करते आ रहे हैं लेकिन उसके बावजूद मॉर्डन लाइफस्टाइल और गलत खानपान की वजह से दुनिया में 200 करोड़ से ज़्यादा लोग ओवरवेट हैं। जिसमें 80 करोड़ लोग ओबेसिटी का शिकार हैं। 2016 में ये आंकड़ा 65 करोड़ था। अकेले भारत में साढ़े 13 करोड़ से ज़्यादा लोग बढ़ते वज़न से परेशान हैं। मोटापा कई बीमारियों को जन्म देता है। इससे डायबिटीज, हाई बीपी, बैक पेन, ज्वॉइंट्स पेन, हार्ट डिजीज का रिस्क कई गुना बढ़ जाता है। एक स्टडी के मुताबिक कोरोना काल में ओबेसिटी के शिकार लोगों में डायबिटीज तेजी से बढ़ा है।बच्चों के लिए तो ये और भी खतरनाक है। अमेरिका की वेरमॉन्ट यूनिवर्सिटी की एक रिपोर्ट की माने तो ओबेसिटी से बच्चों की मेमोरी पर गहरा असर पड़ता है। उनके सोचने और फैसले लेने की क्षमता कमजोर होती है। गौर करने वाली बात ये है कि बच्चों के ओवरवेट होने में भारत चीन के बाद दूसरे नंबर पर है। इसलिए मोटापे को वक्त रहते कंट्रोल करना करना बहुत जरूरी है। बहुत से लोग वेट लॉस करने के लिए सर्जरी का सहारा लेते हैं। लेकिन उसके कई साइड इफेक्ट्स हैं। के अनुसार जिन लोगों को मेटाबॉलिज्म अच्छा नहीं होता है उन्हें मोटापा जैसी समस्या उत्पन्न होती हैं। योग के द्वारा आप अपने शरीर को हैल्दी रखने के साथ-साथ पेट की चर्बी और वजन कम करने में भी मदद करता हैं। इसलिए आप वजन कम करने के लिए जिम जाते हैं लेकिन योगासन और अच्छी डाइट के द्वारा आप आसानी से घर में ही अपना वजन कम कर सकते हैं।

सम्बंधित जानकारी
गर्म सामग्री