Goa Election 2022: दिवंगत BJP नेता मनोहर पर्रिकर के बेटे उत्पल पणजी सीट से हारे

समय:2022-09-30 07:58:33स्रोत:संवेदनशीलता नेटवर्क लेखक:हेबी सिटी

दिवंगतBJPनेतामनोहरपर्रिकरकेबेटेउत्पलपणजीसीटसेहारेJasprit Bumrah IND vs ENG: तीसरे ODI से क्यों बाहर हुए लीडिंग विकेट टेकर जसप्रीत बुमराह, अर्शदीप सिंह पर भी आया बड़ा अपडेट******Highlights इंग्लैंड के खिलाफ तीन मैचों की वनडे सीरीज के पहले मुकाबले में 19 रन देकर 6 विकेट लेने वाले जसप्रीत बुमराह मौजूदा सीरीज में लीडिंग विकेट टेकर हैं। उन्होंने दो मैचों में 8 विकेट अपने नाम किए हैं। लॉर्ड्स वनडे में भी उन्हें दो सफलताएं मिली थीं। लेकिन मैनेचेस्टर में तीसरे और निर्णायक वनडे मुकाबले के लिए बुमराह मैदान पर नहीं उतर सके। भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने टॉस के समय उनको लेकर जानकारी दी और मोहम्मद सिराज को बुमराह की जगह इस मैच के लिए टीम में शामिल किया गया।गौरतलब है कि जसप्रीत बुमराह को भी पिछले मुकाबले में भी अपने 8वें-9वें ओवर के दौरान संघर्ष करते देखा गया था। वह मैदान पर बैठ गए थे। उनकी पीठ में समस्या नजर आ रही थी। शायद यही कारण रहा कि वह मैनचेस्टर के अहम मुकाबले में मैदान पर नहीं उतर सके। कप्तान रोहित शर्मा ने टॉस के समय बताया कि, 'बुमराह के निगल है (हल्की इंजरी) और हम कोई रिस्क नहीं लेना चाहते। इसलिए सिराज को आज मौका मिला है।'यूं तो जसप्रीत बुमराह की कमी पूरी करना आसान नहीं हैं लेकिन इस सीरीज में अपना पहला मुकाबले खेल रहे मोहम्मद सिराज ने जो शुरुआत की उस हिसाब से उन्होंने कहीं ना हीं बुमराह की कमी नहीं खलने दी। सिराज ने अपना पहला ओवर डबल विकेट मेडन निकाला। उन्होंने इस ओवर में पहले जॉनी बेयरस्टो को शून्य पर आउट किया और इसके बाद इसी ओवर में उन्होंने इंग्लैंड के दिग्गज खिलाड़ी जो रूट को भी बिना खातो खोले पवेलियन का रास्ता दिखा दिया। उन्होंने इस ओवर में दो विकेट झटके और कोई भी रन नहीं दिया।जसप्रीत बुमराह जहां हल्की परेशानी के कारण यह मुकाबला नहीं खेल पाए वहीं टी20 सीरीज में अपना इंटरनेशनल डेब्यू करने वाले अर्शदीप सिंह भी इंजरी से परेशान हैं। आपको बता दें कि तीसरे टी20 में डेब्यू करते हुए अर्शदीप सिंह ने 18 रन देकर दो विकेट अपने नाम किए थे। इसके बाद वनडे सीरीज के पहले मैच में कमर के निचले हिस्से में दर्द के कारण वह सेलेक्शन के लिए उपलब्ध नहीं थे। तीसरे मुकाबले में भी बीसीसीआई की तरफ से अपडेट जारी किया गया कि अर्शदीप पूरी तरह फिट नहीं हैं और वह इसी कारण सेलेक्शन के लिए नहीं उपलब्ध हो पाए।

दिवंगतBJPनेतामनोहरपर्रिकरकेबेटेउत्पलपणजीसीटसेहारेSARKARI NAUKARI: महिलाओं के लिए सरकारी नौकरी पाने का शानदार मौका, ऐसे करें अप्लाई******महिला और बाल विकास मंत्रालय यानी कि आंगनवाड़ी विभाग – आंगनवाड़ी वर्कर, आंगनवाड़ी हेल्पर की भर्तियां कई जिलों में कर रहा है। इच्छुक और आर्ह अभ्यर्थी विभाग की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। आंगनवाड़ी की तरफ से ये भर्तियां कर्नाटक के विभिन्न जिलों में की जाएंगी। अधिक जानकारी विभाग की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर प्राप्त कर सकते हैं। आंगनवाड़ी की ऑफिशियल वेबसाइट पर पूरी जानकारी विस्तार में दी गई है। अभ्यर्थियों को सलाह है कि वो फॉर्म भरते समय विभाग की ऑफिशियल वेबसाइट anganwadirecruit.kar.nic.in पर दी गई पूरी जानकारी विस्तार में पढ़ लें, ताकि फॉर्म में किसी भी प्रकार की दिक्कत न हो, क्योंकि विभाग की तरफ से किसी भी अभ्यर्थी का गलत फॉर्म एक्सेप्ट नहीं किया किया जाएगा।आंगनवाड़ी वर्कर, आंगनवाड़ी हेल्पर पर सहित अन्य पदों पर आवेदन करने के लिए अभ्यर्थियों के पास 8वीं या 10वीं का सर्टिफिकेटन होना चाहिए। इसके अलावा अभ्यर्थियों की आयु 35 वर्ष से अधिक नहीं होना चाहिए। आंगनवाड़ी के विभिन्न पदों पर हो रही भर्तियों की आर्हता संबंधित जानकारी अभ्यर्थी विभाग की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर प्राप्त कर सकते हैं। विभाग की ऑफिशियल वेबसाइट पर आर्हता से जुड़ी पूरी जानकारी विस्तार में दी गई है।आंगनवाड़ी की तरफ इस भर्ती के जरिए कुल 324 पदों पर नियुक्तियां करेगा। पदों से संबंधित विस्तृत जानकारी अभ्यर्थी विभाग की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर प्राप्त कर सकते हैं। आंगनवाड़ी के विभिन्न पदों पर आवेदन करने की आखिरी तारीख 14 अगस्त 2019 है।दिवंगतBJPनेतामनोहरपर्रिकरकेबेटेउत्पलपणजीसीटसेहारेशिल्पा शेट्टी को आया पति राज कुंद्रा पर प्यार, एफिल टॉवर से की रोमांटिक तस्वीरें शेयर******: बॉलीवुड की फिट एक्ट्रेसेस में से एक शिल्पा शेट्टी इन दिनों अपने पति राज कुंद्रा, मां सुनंदा शेट्टी, बहन शमिता शेट्टी और दोनों बच्चों वियान और समीशा सहित अपने पेरिस में छुट्टियां मना रही है।शिल्पा ने अपने वेकेशन की कई सारी तस्वीरें और वीडियोज़ को अपने इंस्टग्राम पर शेयर किया है। जिसमें एक तस्वीर उनके पति राज कुंद्रा के साथ भी है। इस नई फोटो में शिल्पा-राज कुंद्रा को एफिल टॉवर के सामने रोमांटिक पोज देते दिख रहे हैं।बता दें कि शिल्पा ने अपने इंस्टाग्राम स्टोरी पर कई तस्वीरें शेयर की हैं। पहली तस्वीर उनकी सेल्फी फोटो है, जिसमें वह एफिल टॉवर के सामने खड़ी दिखाई दे रही हैं। दूसरी फोटो में वह अपने पति राज कुंद्रा संग दिख रही हैं। इस तस्वीर को शेयर करते हुए शिल्पा ने कैप्शन में लिखा, पेरिस विद माय पंजाबी और ”#parisdiaries”फोटोज़ के अलावा शिल्पा ने अपने इंस्टग्राम पेज पर एक वीडियो भी शेयर किया है। इस वीडियो में वो एफिल टावर के पास घूमती हुई नजर आ रही हैं। ग्रीन ड्रेस और उस पर ब्लैक कलर के जैकेट में शिल्पा की खूबसूरती देखते ही बन रही है। इस वीडियो को शेयर करते हुए उन्होंने कैप्शन में लिखा, “जे t'aime पेरिस #love #gratitude #parisvibes #paris”बता दें शिल्पा बहुत जल्द डायरेक्टर रोहित शेट्टी की वेब सीरीज ‘इंडियन पुलिस फोर्स' से अपना ओटीटी डेब्यू करने वाली हैं। इस सीरीज में शिल्पा कॉप का रोल निभाते हुए दिखाई देंगी। बता दें कि रोहित शेट्टी के इस सीरीज में सिद्धार्थ मल्होत्रा और विवेक ओबेरॉय भी अहम रोल हैं।

Goa Election 2022: दिवंगत BJP नेता मनोहर पर्रिकर के बेटे उत्पल पणजी सीट से हारे

दिवंगतBJPनेतामनोहरपर्रिकरकेबेटेउत्पलपणजीसीटसेहारेVingajoy Pushpa CL-404 Neckband Review: बेहतरीन आवाज़ और लंबा प्लेटाइम, कम कीमत में कॉम्पटीटर्स पर भारी******अगर आप म्यूजिक लवर हैं या दिन में आपका अधिकतर वक्त मोबाइल पर कॉल्स अटेंड करते हुए बीतता है, तो आप जरूर ही एक बेहतरीन ब्लूटूथ वायरलैस डिवाइस की तलाश में रहते होंगे। अगर आपको कान से बार बार गिर जाने वाले TWS से नफरत है, तो आज हम आपके लिए लेकर आए हैं भारतीय कंपनी Vingajoy के पुष्पा सीरीज का नैक बैंड।विंगाजॉय ने प्रीमियम विंगाजॉय CL-404 पुष्पा सीरीज वायरलेस नेकबैंड को खासतौर पर कॉन्फ्रेंस कॉल और म्यूजिक के लिए डिजाइन किया गया है। हमने इस नेकबैंड को करीब 2 महीने यूज किया। आइए जानते हैं इस नेकबैंड को लेकर हमारा एक्सपीरिएंस कैसा रहा है।विंगाजॉय सीएल-404 पुष्पा सीरीज वायरलेस नेकबैंड की डिजाइन की बात करें तो यह काफी आकर्षक है। जिस नेकबैंड को हमने यूज किया वह ब्लैक और आरेंज के कॉम्बिनेशन में था। जो लुक में काफी अपीलिंग लग रहा था। यह ट्रेंडी नेकबैंड मैग्नेटिक ईयरबड्स के साथ लैस है। नेकबैंड के दोनों छोर पर प्ले पॉज कॉल के अलावा चार्जिंग स्लॉट दिया गया है। बैंड काफी हल्का है, ऐसे में इसे पहनने पर कोई परेशानी नहीं होती है, साथ ही सिलिकॉन से बने ईयर बड कान में आसानी से फिट हो जाते हैं।कंपनी ने पुष्पा नैकबैंड के साथ एचडी ऑडियो क्वॉलिटी का दावा किया गया है। हमें इसकी आवाज काफी अच्छी लगी। हालांकि म्यूजिक के लिए बेस की थोड़ी कमी महसूस हुई। लेकिन कॉलिंग के दौरान नॉइस कैंसिलेशन काफी बेहतर लगी।इसके पावर बैकअप ने हमें काफी प्रभावित किया है। कंपनी का दावा है कि एक बार की चार्जिंग में 25 घंटे तक का बैटरी बैकअप मिलेगा। यह 250 घंटे की स्टैंडबाय लाइफ भी रखता है।विंगाजॉय सीएल- 404 पुष्पा सीरीज वायरलेस नेकबैंड ब्लूटूथ वी5.0 से लैस है और इसे एंड्रॉयड और आईओएस दोनों डिवाइस के साथ कनेक्ट किया जा सकेगा।यदि आप पूछें कि इस नैकबैंड का नाम पुष्पा क्यों रखा गया है, तो हमें नहीं पता। संभव है कि साउथ की सुपरहिट मूवी पुष्पा के नाम पर इसे लॉन्च किया गया हो। लेकिन इतना जरूर कहेंगे कि वास्तव में यह नेकबैंड फायर है। हमें इसकी किफायती कीमत में पर्फोर्मेंस काफी पसंद आई।दिवंगतBJPनेतामनोहरपर्रिकरकेबेटेउत्पलपणजीसीटसेहारेमात्र 1499 रुपए में मिल रहा है Lenovo Vibe K5 plus स्मार्टफोन, VR हेडसेट खरीदने पर मिलेगी अतिरिक्त छूट****** देश की दिग्गज ई-कॉर्मस साइट फ्लिपकार्ट पर लेनोवो वाइब के5 प्लस (Lenovo Vibe K5 plus) को एक्सचेंज ऑफर में 1499 रुपए में खरीदा जा सकता है। बिना एक्सचेंज के इसे साइट पर 7,999 रुपए में लिस्ट किया गया है। इस ऑफर का लाभ तब ही उठा सकते हैं अगर पुराना फोन कंपनी के नियम व शर्तों के मुताबिक होगा। अगर इस फोन को VR हेडसेट से साथ खरीदा जाए तो इसपर 300 रुपए की छूट मिलेगी। भारत में लॉन्च के समय इसकी कीमत 8,499 रुपए रखी गई थी।4G SMARTPHONES UNDER 5000 RUPEES Coming Soon: Samsung से लेकर Lenovo तक, जुलाई में लॉन्‍च होंगे इन कंपनियों के स्‍मार्टफोनLenovo वाइब के5 स्‍मार्टफोन के लिए रजिस्‍ट्रेशन की जरूरत खत्‍म, शुरू हुई ओपन सेलदिवंगतBJPनेतामनोहरपर्रिकरकेबेटेउत्पलपणजीसीटसेहारेहर महीने करना होगा 1.1 लाख करोड़ रुपए का GST राजस्‍व संग्रह, वित्‍त मंत्रालय ने अधिकारियों को दिया लक्ष्‍य******FinMin sets Rs 1.1 lakh cr monthly GST collection target चालू वित्‍त वर्ष में सरकार के लक्षित कर राजस्‍व लक्ष्‍य से चूकने की खबरों के बीच वित्‍त मंत्रालय ने चालू वित्त वर्ष 2019-20 के शेष चार महीनों (दिसंबर-मार्च) में हर महीने 1.1 लाख करोड़ रुपए जीएसटी संग्रह का लक्ष्य तय किया है। वित्‍त मंत्रालय के सूत्रों ने यह जानकारी दी। राजस्व सचिव अजय भूषण पाण्डेय ने वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के जरिये शीर्ष कर अधिकारियों के साथ बैठक की और उनसे वित्‍त वर्ष 2019-20 के लिए प्रत्‍यक्ष एवं अप्रत्‍यक्ष को हासिल करने की दिशा में प्रयास करने को कहा है। इसके साथ ही कर वसूली बढ़ाने के लिए कदम उठाने के भी निर्देश दिए गए हैं।सूत्रों ने बताया कि अधिकारियों से विशेष रूप से यह सुनिश्चित करने और ध्‍यान रखने का निर्देश दिया गया है कि फील्‍ड एनफोर्समेंट ड्राइव और वसूली अभियान के दौरान किसी भी करदाता को अनावश्‍यक और बेवजह परेशानी का सामना न करना पड़े।कर अधिकारियों को बताया गया कि जीएसटी संग्रह के साथ ही 2019-20 के लिए निर्धारित प्रत्यक्ष कर संग्रह के लक्ष्य (13.35 लाख करोड़ रुपए) को भी हासिल करना होगा। सूत्रों ने कहा कि दिसंबर 2019 से मार्च 2020 के बीच हर महीने 1.10 लाख करोड़ रुपए का जीएसटी संग्रह का लक्ष्य रखा गया है। लक्ष्य के लिए इन चार महीनों में किसी एक महीने में कर संग्रह 1.25 लाख करोड़ रुपए होना चाहिए।चालू वित्त वर्ष के आठ महीनों में से चार महीनों का जीएसटी संग्रह एक लाख करोड़ रुपए से ऊपर रहा है। इनमें से सिर्फ एक महीने वसूली का आंकड़ा 1.1 लाख करोड़ रुपए के ऊपर रहा। लेकिन मौजूदा रुख ही बना रहा तो जीएसटी संग्रह लक्ष्य से कम से कम एक लाख करोड़ रुपए कम रह सकता है। सरकार ने 2019-20 में 13.35 लाख करोड़ रुपए प्रत्यक्ष कर से जुटाने का लक्ष्य रखा है। अक्टूबर में इसका 45 प्रतिशत (6 लाख करोड़ रुपए) जुटाये गए हैं।सूत्रों ने कहा कि राजस्व विभाग अगले चार महीनों में कर संग्रह बढ़ाने के लिए ठोस कदम उठा रहा है। विभाग ने सीबीआईसी, सीबीडीटी के सदस्यों समेत अन्य वरिष्ठ अधिकारियों से प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष कर का लक्ष्य हासिल करने के लिए कहा है।

Goa Election 2022: दिवंगत BJP नेता मनोहर पर्रिकर के बेटे उत्पल पणजी सीट से हारे

दिवंगतBJPनेतामनोहरपर्रिकरकेबेटेउत्पलपणजीसीटसेहारेकेरल सोना तस्करी मामला: ईडी ने 3 मुख्य आरोपियों की 1.85 करोड़ रुपए मूल्य की संपत्ति जब्त की******नयी दिल्ली। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने केरल के सोना तस्करी मामले में धनशोधन की अपनी जांच के तहत 1.85 करोड़ रुपये मूल्य की संपत्ति जब्त की है। जांच एजेंसी ने गुरुवार को इस बारे में बताया। इतनी बड़ी रकम की जब्ती तीन प्रमुख आरोपियों स्वपना सुरेश, सारिथ पीएस और संदीप नायर के खातों से प्रीवेंशन ऑफ मन लॉन्ड्रिंग ऐक्ट (PMLA) के तहत की गई है। इस बीच एडिश्नल चीफ जुडिशियल मैजिस्ट्रेट (आर्थिक अपराध) ने स्वपना सुरेश और सारिथ पीएस को 28 दिसंबर तक कस्टम की हिरासत में भेज दिया है। वहीं ईडी ने पूर्व प्रधान सचिव की संपत्ति जब्त करने की भी कार्रवाई शुरू कर दी है।केरल सोना तस्करी मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने तीन आरोपियों के खातों में जमा रकम जब्त करने के साथ ही केरल में सीएमओ के पूर्व प्रिंसिपल सेक्रेटरी एम शिवशंकर की सभी संपत्तियों की जब्ती की कार्रवाई भी शुरू कर दी है। गौरतलब है कि शिवशंकर को इस मामले में गिरफ्तार किया गया था। प्रवर्तन निदेशालय उनके खिलाफ प्रीवेंशन ऑफ मन लॉन्ड्रिंग ऐक्ट (पीएमएलए) के तहत चार्जशीट भी दायर करने जा रही है। सूत्रों के मुताबिक चार्जशीट में सोना तस्करी मामले में शिवशंकर का नाम एक मास्टरमाइंड के तौर पर दिया गया है। यह चार्जशीट उनकी गिरफ्तारी के 56 दिन बाद दायर हो रही है। इस बीच प्रवर्तन निदेशालय ने उनसे जुड़ी संपत्तियों की जब्ती का भी आदेश दे दिया है।बता दें कि,सीमा शुल्क विभाग ने पांच जुलाई को केरल के तिरुवनंतपुरम अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर ‘‘राजनयिक सामान’’ से 30 किलोग्राम से अधिक सोना जब्त किया था, जिसके बाद सोना तस्करी का यह मामला सामने आया था,जब्त सोने की कीमत 14.82 करोड़ रुपये बताई गई थी।ईडी ने कहा है कि संयुकत अरब अमीरात (यूएई) के वाणिज्य दूतावास भेजे जा रहे राजनयिक सामान से यह सोना बरामद किया गया था।ने कहा है कि केरल के सोना तस्करी मामले में धन शोधन रोकथाम कानून (पीएमएलए) के प्रावधानों के तहत नकदी, सावधि जमा(एफडी) समेत 1.85 करोड़ रुपये मूल्य की संपत्ति जब्त की गयी है।केरल में सोना तस्करी मामले केखुलासे के बाद से खुद केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयनविपक्ष के निशाने पर रहे हैं। हालांकि, वहां की सत्ताधारी पार्टी आरोप लगाती रही है कि इस केस में केंद्रीय जांच एजेंसियां कुछ ज्यादा ही तेजी दिखा रही हैं। पिछले गुरुवार को खुद सीएम विजयन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीको खत लिखकर इसकी शिकायत की थी और उनसे इस मामले में तुरंत दखल देने की गुजारिश की थी।दिवंगतBJPनेतामनोहरपर्रिकरकेबेटेउत्पलपणजीसीटसेहारेNHM Bihar Recruitment 2019: बिहार राज्य स्वास्थ्य समिति में कम्यूनिटी हेल्थ अफसर के लिए 600 पदों पर भर्ती, ऐसे करें आवेदन****** राज्य स्वास्थ्य समिति, बिहार ने 600 पदों पर आवेदन मांगे गए हैं।ये वैकेंसी कम्यूनिटी हेल्थ अफसर (सीएचओ) पद के लिए निकाली गई है।इच्छुक और योग्य उम्मीदवारों को इसके लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा।इन पोस्ट पर आवेदन करने की अंतिम तारीख 4 जुलाई 2019 है, ऐसे में आवेदन करने के लिए उम्मीदवारों के पास ज्यादा समय नहीं बचा है।बिहार एनएचएम की ऑफिशियल वेबसाइट पर जारी की गई जानकारी के मुताबिक जिन उम्मीदवारों के पास आयुर्वेदिक और नर्सिंग की डिग्री है वे लोग ही इसके लिए आवेदन कर सकते है।परीक्षा में जो सफल उम्मीदवारों होंगे उन्हें 6 महीने का सर्टिफिकेट कोर्स करना होगा, जिसके बाद उन्हें नियुक्त किया जाएगा।बिहार एनएचएम में निकली सीएचओ की 600 भर्तियों में से 400 पद आयुर्वेदिक डॉक्टर्स के लिए हैं।इस पद पर आवेदन करने के लिए उम्मीदवार तभी आवेदन कर सकते हैं जब उम्मीदवार बिहार सरकार के अंतर्गत रेगुलर डॉक्टर के रूप में काम कर रहा हो या फिर सरकार के अंतर्गत कॉन्ट्रेक्ट पर काम कर रहा हो।इसके अलावा फ्रेश आयुर्वेदिक डॉक्टर भी आवेदन कर सकते हैं। उम्मीदवार के पास आयुर्वेदिक मेडिसन में बैचलर डिग्री का होना भी आवश्यक है।यह डिग्री उम्मीदवार ने मान्यता प्राप्त संस्थान से ली होनी चाहिए या फिर ऐसे संस्थान से हो जिसे स्टेट काउंसिल ऑउ आयुर्वेदिक एंड यूनानी मेडिसन, बिहार से मान्यता प्राप्त हो।- 600 पोस्ट 400 पोस्ट200 पोस्टइन पदों पर आवेदन करने के लिए उम्मीदवारों की न्यूनतम उम्र 21 साल और अधिकतम आयु 42 साल होनी चाहिए. आरक्षित वर्गों के उम्मीदवारों को अधिकतम आयु सीमा में छूट दी जाएगी।आयुर्वेदिक और नर्सिंग पद के लिए 25,000 रुपये वेतन के तौर पर दिए जाएंगे।इसके अलावा 15,000 रुपये तक का इंसेटिव दिया जाएगा। उम्मीदवारों को बिहार एनएचएम की ओर से जारी किए गए इन पदों आवेदन 4 जुलाई शाम 6 बजे तक करना होगा।जनरल कैटेगरी के उम्मीदवारों को 500 रुपये आवेदन फीस के रूप में जमा करने होंगे।वहीं एससी/एसटी वर्ग के उम्मीदवारों को 250 रुपये आवेदन फीस देनी होगी।उम्मीदवारों का फाइनल चयन कंप्यूटर बेस्ड एग्जामिनेशन (CBE) में प्राप्त किए गए अंकों के आधार पर किया जाएगा। जो उम्मीदवार इस परीक्षा में सफल हो जाएंगे उन्हें डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन प्रक्रिया के लिए बुलाया जाएगा।CBE को पास करने के लिए उम्मीदवारों इसमें 30% अंक लाने होंगे।इस संबंध में अधिक जानकारी के लिए आप बिहार स्वास्थ समिति की ऑफिशियल वेबसाइट पर जा सकते हैं।

Goa Election 2022: दिवंगत BJP नेता मनोहर पर्रिकर के बेटे उत्पल पणजी सीट से हारे

दिवंगतBJPनेतामनोहरपर्रिकरकेबेटेउत्पलपणजीसीटसेहारेदिशा सालियान ने आखिरी बार 100 नंबर पर नहीं किया था कॉल, मुंबई पुलिस ने बताया सच******सुशांत सिंह राजपूत की एक्स मैनेजर दिशा सालियान की मौत की गुत्थी भी अभी तक सुलझ नहीं पाई है। दिशा केस में भी हत्या या आत्महत्या को लेकर जांच जारी है। खबरों के मुताबिक दिशा सालियान ने आखिरी बार 100 नंबर पर फोन मिलाया था। मुंबई पुलिस ने इन सभी दावों को गलत ठहराया है।मुंबई पुलिस ने एएनआई से बातचीत में इस खबर को गलत ठहराया। उन्होंने कहा- दिशा सालियान के फोन से आखिरी कॉल उनकी दोस्त अंकिता को की गई थी। 100 नंबर पर फोन मिलाने का जो दावा किया जा रहा है वो गलत है।टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक पुलिस ने पहले विदेश में रहने वाली दिशा के दोस्त का बयान दर्ज किया था, जिसे उसने उसी रात फोन किया था। “दो काम से संबंधित डील उसके पक्ष में नहीं गए थे। बल्कि एक डील उनसे लेकर उनके एक सहयोगी को सौंप दी गई थी। उसके दोस्त ने उसे सांत्वना देने की कोशिश की और पार्टी में अन्य लोगों से बात की, उन्हें बताया कि वे सालियान की देखभाल करें।दिशा सालियान के निधन के बाद 14 जून को सुशांत सिंह राजपूत अपने मुंबई स्थित घर में मृत पाए गए थे। इस केस की जांच में सीबीआई, एनसीबी और ईडी लगी हुई हैं। एम्स की फॉरेंसिक टीम अगले हफ्ते तक सीबीआई को सुशांत की विसरा रिपोर्ट सौंप देगी। जिसके आधार पर आगे जांच होगी। वहीं दूसरी तरफ एनसीबी ने ड्रग्स मामले में रिया चक्रवर्ती और उनके भाई शौविक को गिरफ्तार कर लिया है। रिया 22 सितंबर तक न्यायिक हिरासत में हैं।

दिवंगतBJPनेतामनोहरपर्रिकरकेबेटेउत्पलपणजीसीटसेहारेWorld Health Day 2022: ये हैं दुनिया की 5 खतरनाक बीमारियां, जानिए इनके बचाव के तरीके******Highlightsआज वर्ल्ड हेल्थ डे और आज के दिन आपको बताते हैं कैसे आप अपने आपको स्वस्थ और खुश रख सकते हैं। बेहतर स्वास्थ्य के प्रति दुनियाभर के लोगों को जागरूक करने के मकसद से WHO (वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन) की तरफ से वर्ल्ड हेल्थ डे मनाया जाता है। आपको बता दें कि1 948 में, WHO ने प्रथम विश्व स्वास्थ्य सभा का आयोजन किया। 1950 से सभा ने प्रत्येक साल के 7 अप्रैल को विश्व स्वास्थ्य दिवस के रूप में मनाने का निर्णय लिया। सेहत के प्रति जागरूक होने के लिए जरूरी है कि हम उन बीमारियों के बारे में जानें जिससे दुनियाभर में सबसे ज्यादा लोग प्रभावित हो रहे हैं। WHO के मुताबिक ये हैं दुनिया की 5 सबसे घातक बीमारियां जिसकी चपेट में आकर हर साल सबसे ज्यादा लोगों की मौत होती है।नियमित व्यायाम, संतुलित वजन, बैलेंस्ड डाइट का सेवन, फल और सब्जियां ज्यादा खाएं, स्मोकिंग करने से बचें, संतुलित मात्रा में शराब का सेवनसबसे घातक बीमारियों की लिस्ट में दूसरे नंबर पर है स्ट्रोक जिसकी वजह से साल 2015 में 62 लाख लोगों की मौत हुई थी और दुनियाभर में हुई मौतों में 11.1 प्रतिशत मौतें इसी बीमारी की वजह से हुई। स्ट्रोक तब होता है जब मस्तिष्क की कोई धमनी या तो ब्लॉक हो जाती है या फिर लीक होने लगती है। ऐसे में ब्रेन सेल्स को ऑक्सिजन नहीं मिलता और महज कुछ मिनटों में मरीज ब्रेन डेड हो जाता है। स्ट्रोक के दौरान मरीज अचानक संवेदनशून्य हो जाता है, उसे देखने और चलने में दिक्कत होने लगती है।्सहाई बीपी, स्ट्रोक की फैमिली हिस्ट्री, धूम्रपान (साथ में गर्भनिरोधक गोलियां ले रहीं हों तो खतरा ज्यादा), महिलाओं में खतरा ज्यादालाइफस्टाइल में करें बदलाव, बीपी को रखें कंट्रोल में, नियमित रूप से एक्सरसाइज करें, हेल्दी डाइट का सेवन करें।श्वास संबंधी इंफेक्शन की वजह से साल 2015 में 32 लाख लोगों की मौत हो गई थी और दुनियाभर में हुई कुल मौतों में इस बीमारी से होने वाली मौत का प्रतिशत 5.7 है। हालांकि साल 200 से तुलना करें तो इस बीमारी में कमी आयी है। साल 2000 में जहां रेस्पिरेट्री इंफेक्शन से 34 लाख लोगों की मौत हुई थी वहीं 2015 में यह संख्या घटकर 32 लाख हो गई। लोअर रेस्पिरेट्री इंफेक्शन हमारे शरीर के वायु-मार्ग और फेफड़ों को प्रभावित करता है जिसकी वजह से फ्लू, निमोनिया, ब्रोंकाइटिस और टीबी तक हो सकता है।फ्लू, हवा की खराब क्वालिटी, धूम्रपान, कमजोर इम्यून सिस्टम, अस्थमा, एचआईवीहर साल फ्लू वैक्सीन लें, नियमित रूप से हाथों को साबुन-पानी से धोएं (खासकर खाने से पहले), अगर इंफेक्शन हो जाए तो घर पर रहकर आराम करें।क्रॉनिक ऑब्स्ट्रक्टिव पल्मनरी डिजीज (COPD)यह फेफड़ों से जुड़ी लॉन्ग टर्म बीमारी है जिसमें सांस लेने में तकलीफ होने लगती है। क्रॉनिक ब्रोंकाइटिस और इम्फीसेमा COPD के 2 प्रकार हैं। साल 2004 में दुनियाभर में 6 करोड़ 41 लाख लोग COPD बीमारी के साथ रह रहे थे जबकि 2015 में करीब 31 लाख लोगों की इस बीमारी की वजह से मौत हो गई। 2015 में दुनियाभर में 5.6 प्रतिशत लोगों की मौत इस बीमारी की वजह से हुई थी।एक्टिव और पैसिव दोनों तरह की स्मोकिंग, केमिकल के धुएं की वजह से फेफड़ों में जलन, फैमिली हिस्ट्री, बचपन में श्वास संबंधी इंफेक्शन रहा हो तो।COPD को पूरी तरह से खत्म नहीं किया जा सकता, सिर्फ दवाओं से कम कर सकते हैं, एक्टिव और पैसिव स्मोकिंग से बचें, अगर फेफड़ों में तकलीफ हो तो तुरंत डॉक्टर से मिलें।रेस्पिरेट्री यानी श्वास संबंधी कैंसर में श्वास नली, कंठ, ब्रॉन्कोस और फेफड़ों का कैंसर शामिल है के होने की 2 मुख्य वजह है। पहला- धूम्रपान या दूसरों के धूम्रपान की वजह से निकलने वाले धुएं में सांस लेना और दूसरा- वातावरण में मौजूद जहरीले कण। साल 2015 की एक स्टडी के मुताबिक श्वास संबंधी कैंसर की वजह से दुनियाभर में 40 लाख लोगों की हर साल मौत होती है। विकासशील देशों में तो पॉल्यूशन और स्मोकिंग की वजह से इसकी संख्या लगातार बढ़ रही है।वैसे तो श्वास संबंधी कैंसर किसी को भी हो सकता है लेकिन धूम्रपान और तंबाकू का सेवन करने वालों में खतरा अधिक होता है, फैमिली हिस्ट्री और वातावरण के कारण भी इसमें शामिल हैं।फेफड़ों के कैंसर से बचने के लिए धूल-धुआं और तंबाकू से बचें।दिवंगतBJPनेतामनोहरपर्रिकरकेबेटेउत्पलपणजीसीटसेहारेउड़ान के दौरान एयर इंडिया के परिचालन निदेशक ने पी शराब, तीन साल के लिए निलंबित हुआ लाइसेंस******नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने सरकारी क्षेत्र की एयरलाइन के उड़ान परिचालन निदेशक अरविंद कठपालिया का लाइसेंस तीन वर्ष के लिए निलंबित कर दिया है। कठपालिया रविवार को उड़ान ड्यूटी से पहले जांच में मद्यपान किए हुए पाए गए थे। एयर इंडिया ने कठपालिया को उस दिन उड़ान ड्यूटी से हटा दिया था।एक अधिकारी ने बताया कि जांच के दौरान सांस में मदिरापान के लक्षण पाए जाने पर उनका लाइसेंस तीन साल के लिए निलंबित किया गया है।डीजीसीए के नियम 24 के तहत चालक दल का कोई सदस्य उड़ान के 12 घंटे पहले तक मदिरापान नहीं कर सकता। उड़ान से पहले उनकी मद्यपान निरोधक जांच जरूरी है।पहली बार पकड़े जाने पर विमान परिचालन का लाइसेंस तीन महीने के लिए मुअत्तिल किया जा सकता है। दूसरी बार निलंबन तीन साल के लिए करने का प्रावधान है। तीसरी बार पकड़े जाने पर लाइसेंस हमेशा के लिए रद्द हो सकता है। डीजीसीए ने कठपालिया का लाइसेंस इससे पहले 2017 में तीन महीने के लिए निलंबित किया था। उस समय वह एक उड़ान से पहले मद्यपान जांच यंत्र में सांस छोड़ने से बच कर निकल गए था। उस समय उन्हें कार्यकारी निदेशक (परिचालन) पद से हटा दिया गया था।

दिवंगतBJPनेतामनोहरपर्रिकरकेबेटेउत्पलपणजीसीटसेहारेAssembly Elections 2022 LIVE Updates: सीएम योगी, गडकरी ने जौनपुर में 2,000 करोड़ की परियोजनाओं का किया शिलान्यास, बोले- "बड़ी भूमिका के लिए बड़ा विज़न चाहिए"******Highlightsअगले कुछ महीने बादउत्तर प्रदेश, पंजाब समेत पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं। ऐसे में सभी राजनीतिक दल सत्ता की दावेदारी के लिए बड़े-बड़े वादे कर रहेहैं। लगातार नेताओं की रैलियां और जनता के बीच योजनाओं का ऐलान किया जा रहा है। चुनाव आयोग ने भी अपनी तैयारियां तेज कर दी है। सोमवार को आयोग की टीम गोवा दौरे पर तीन दिनों के लिए जा रही है। अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर टीम जायजा लेगी। अगले साल 5 जनवरी के बाद कभी भी उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, गोवा, मणिपुर में विधानसभा चुनावों की तारीखों का ऐलान कर सकता है। क्योंकि, 2017 विधानसभा चुनाव को लेकर आयोग ने 6 जनवरी को तारीख का ऐलान किया था।वहीं, चुनाव को नजदीक आता देख, राजनीतिक पार्टियों की लगातार रैलियां की जा रही है। आरोप-प्रत्यारोप और एक-दूसरे पर बयानबाजी का दौर भी जारी है। जातीय समीकरण को साधने में भी पार्टियां आगे नजर आ रही है। सपा की नजर ब्राह्मणों वोटो पर आकर टिक गई है। तभी तोसमाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व अध्यक्ष, माता प्रसाद पांडे ने कहा है कि सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव सत्ता में वापसी सुनिश्चित करने के लिए विशेष रूप से पूर्वी यूपी में अधिक से अधिक ब्राह्मण उम्मीदवारों को मैदान में उतारेंगे।दिवंगतBJPनेतामनोहरपर्रिकरकेबेटेउत्पलपणजीसीटसेहारेबॉलीवुड के मशहूर कोरियोग्राफर श्यामक डावर की मां का 99 साल की उम्र में निधन******बॉलीवुड के फेमस कोरियोग्राफर श्यामक डावर की मां पूरन डावर का गुरुवार सुबह निधन हो गया। वो 99 साल की थीं। बढ़ती उम्र के कारण उन्हें लंबे समय से कई तरह की स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतें थीं। श्यामक डावर की मां के निधन पर बॉलीवुड के कई सितारों ने दुख जताया। आर्ट डायरेक्टर वनिता ओमंग कुमार ने उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए एक इमोशनल नोट लिखा। अपने पति ओमंग कुमार और पूरन के साथ एक तस्वीर साझा करते हुए उन्होंने लिखा- शब्दों ने मुझे विफल कर दिया...पूरन आंटी आप हमारे लिए एंजेल थीं। आपने मुझे और उमंग को बहुत प्यार दिया और मैं भी आपसे बहुत प्यार करती थी। आपने हमें जो प्यार और प्रशंसा दी, उसके लिए धन्यवाद, मुझे आपकी बहुत याद आएगी।बता दें कि श्यामक डावर बॉलीवुड के जाने-मान कोरियोग्राफर हैं। उन्हें कंटेपरी डांस फॉर्म को प्रचलन में लाने के लिए जाना जाता है। श्यामक ने फिल्म 'दिल तो पागल है' से अपना करियर शुरू किया था। इसके बाद श्यामक डावर ने कई फिल्मों के लिए बतौर कोरियोग्राफर काम किया। इसमें 'ताल', 'बंटी और बबली', 'धूम 2', 'तारें जमीन पर', 'युवराय', 'रब ने बना दी जोड़ी' और 'भाग मिल्खा भाग' जैसी फिल्में शामिल हैं। श्यामक ने कई हॉलीवुड फिल्मों में भी कोरियोग्राफी की है। उन्होंने फिल्म 'मिशन इंपॉसिबल 4' के लिए भी डांस सीक्वेंस को कोरियोग्राफ किया था।

दिवंगतBJPनेतामनोहरपर्रिकरकेबेटेउत्पलपणजीसीटसेहारेRussia Ukraine News: रूस से जंग लड़ रहे यूक्रेन की मदद कर रहा अमेरिका, हर दिन भेजे जा रहे हथियार****** व्हाइट हाउस के चीफ ऑफ स्टाफ रॉल क्लेन ने कहा है कि रूस के खिलाफ युद्ध में यूक्रेन की आर्थिक और सैन्य सहायता को लेकर अमेरिका पूरी तरह से प्रतिबद्ध है। उन्होंने इस युद्ध को ‘‘समाप्त होने से दूर’’ करार दिया। क्लेन ने के उत्तरी हिस्से में रूसी सैनिकों से लड़ने का श्रेय यूक्रेनियाई लोगों को दिया और कहा कि अमेरिका और उसके साझेदार उस देश में ‘‘लगभग हर दिन’’ हथियार भेज रहे हैं। हालांकि उन्होंने एबीसी के ‘दिस वीक’ से यह भी कहा कि ऐसे संकेत हैं कि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन यूक्रेन के पूर्वी हिस्सों में रूसी सैनिकों की नए सिरे से तैनाती कर रहे हैं।क्लेन ने कहा कि यह यूक्रेन के राष्ट्रपति पर निर्भर करता है कि क्या वह रूस को यूक्रेन के पूर्वी हिस्से पर कब्जे के राजनीतिक लक्ष्य को पूरा करने की अनुमति देते हैं या नहीं लेकिन अमेरिका का रुख है कि ‘‘इस हमले का सैन्य भविष्य पीछे धकेलना वाला होना चाहिए।’’उन्होंने कहा कि जहां तक पूर्वी यूक्रेन पर संभावित रूसी कब्जे का सवाल है तो ‘‘मैं कह सकता हूं कि जैसा राष्ट्रपति जेलेंस्की ने कहा है कि यह उनके लिए स्वीकार्य नहीं होगा और हम उनकी सैन्य, आर्थिक और मानवीय तरीके से मदद करने जा रहे हैं।’’दिवंगतBJPनेतामनोहरपर्रिकरकेबेटेउत्पलपणजीसीटसेहारेकल से Google Chrome 76 में मिलेगा नया ब्राउजिंग एक्सपीरिएंस, प्राइवेसी होगी और मजबूत******google upgrade google chrome browser दुनिया का सबसे बड़ा अपने क्रोम (Chrome) ब्राउजर को 30 जुलाई से नए 76 (Google Chrome 76) से करने जा रहा है। बताया जा रहा है कि इससे क्रोम यूजर्स की पहले के मुकाबले और बेहतर हो जाएगी। बता दें कि कुछ दिन पहले खबर आई थी कि incognito mode में भी यूजर्स की ऐक्टिविटी को वेबसाइट्स द्वारा ट्रैक किया जा रहा है। इसी के चलते अब गूगल इसके लिए नया वर्जन Google Chrome 76 लेकर आया है जिसमें काफी सारे बदलाव देखे जा सकते हैं। आप भी जानिए Google Chrome 76 से क्या कुछ होंगे बदलाव। नए वर्जन का Google Chrome 76 अब सभी साइट्स के लिए एडोब फ्लैश (Adobe Flash) बाई डिफॉल्ट डिसेबल रखेगी। लेकिन यह यूजर्स पर निर्भर करेगा कि वह एडोब फ्लैश को डिसेबल रखना चाहते हैं या इनेबल। यहां आपको ध्यान रखना होगा कि आप फ्लैश का इस्तेमाल सिर्फ क्लिक-टू-प्ले (Click to play ) मोड में ही कर सकेंगे। इसके साथ ही क्रोम यूजर्स को एक वॉर्निंग नोटिफिकेशन भी दिया जाएगा कि दिसंबर 2020 के बाद से क्रोम फ्लैश प्लेयर को सपॉर्ट नहीं करेगा।नए क्रोम के आने के बाद Incognito mode को ट्रैक करना किसी के लिए काफी मुश्किल हो जाएगा। दरअसल कुछ वेबसाइट्स फाइल सिस्टम एपीआई रिक्वेस्ट भेजकर यूजर्स के इनकॉग्निटो मोड (Incognito mode) को डिटेक्ट कर लेती थीं जो कि इस मोड के लिए डिसेबल होता था। कुछ वेबसाइट इस ट्रिक की मदद से इनकॉग्निटो मोड में रहने वाले यूजर्स को ब्लॉक कर देती थीं क्योंकि इसके जरिए वेब पर पेवॉल को बाइपास करना आसान होता है। गूगल Google Chrome के नए अपडेट में इस खामी को खत्म कर रहा है।नए क्रोम के आने के बाद Escape Key और सुरक्षित हो जाएगी। आमतौर पर जब आप किसी वेबसाइट पर विजिट करते हैं तो आपको एस्केप की (Escape Key) की जरूरत नहीं पड़ती। अगर गलती से कोई यूजर किसी मैलिसियस वेबसाइट पर चला जाता है, तो उसे उससे बाहर आने के लिए एस्पेकप की की जरूरत होती है। ये मैलिसियस वेबसाइट एस्केप की को डिसेबल कर बार-बार पॉप अप नोटिफिकेशन्स जेनरेट करके यूजर्स को परेशान करती हैं। ऐसे में एस्केप की की मदद से यूजर साइट को बार-बार लोड होने से रोकते हैं। नए क्रोम 76 में इसे फिक्स कर दिया गया है और यूजर्स को ऐसी साइट्स से अब परेशानी नहीं होगी।ज्यादातर यूजर क्रोम ओएस पर नोटिपिक्शन को क्लियर करना पसंद नहीं करते। ऐसा इसलिए है क्योंकि गूगल इसे क्लियर करने का ऑप्शन 'Clear All' बटन लिस्ट में एकदम नीचे उपलब्ध कराता है। यूजर्स को नीचे तक स्क्रॉल करना पसंद नहीं इसलिए वे इसे क्लियर नहीं करते। हालांकि, अब यह बदलने वाला है और नए अपडेट में यूजर्स को क्लियर ऑल बटन ऊपर की तरफ ही उपलब्ध करा दिया जाएगा।क्रोम 76 के आने के बाद वेबसाइट्स ये जान सकेंगी कि यूजर ने अपने ऑपरेटिंग सिस्टम पर डार्क मोड को सिलेक्ट किया है या नहीं। अगर यूजर ने डार्क मोड ऑन रखा होगा तो साइट्स ऑटोमैटिकली यूजर को डार्क थीम के साथ कॉन्टेंट दिखाएंगी।

सम्बंधित जानकारी
गर्म सामग्री