'आरआरआर' की टीम पहुंची अमृतसर, स्वर्ण मंदिर में टेका माथा

समय:2022-09-30 23:42:45स्रोत:संवेदनशीलता नेटवर्क लेखक:Kyzilsu किर्गिज़ स्वायत्त प्रान्त

आरआरआरकीटीमपहुंचीअमृतसरस्वर्णमंदिरमेंटेकामाथाUP: एसटीएफ ने फर्जी मार्कशीट पर नौकरी करने वाले शिक्षक समेत क्लर्क को किया गिरफ्तार****** फर्जी मार्कशीट से नौकरी करने वालों को लेकर उत्तर प्रदेश में धरपकड़ जारी है। मंगलवार को एसटीएफ गोरखपुर की टीम ने परिषदीय व अनुदानित विद्यालयों में लोगों को नौकरी दिलाने व फर्जी प्रमाण पत्र बनाने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया है। उत्तर प्रदेश एसटीएफ ने देवरिया जिले से फर्जी मार्कशीट/बीए की डिग्री के आधार पर शिक्षक की नौकरी करने वाले फर्जी शिक्षक व कूटरचित अंक पत्र तैयार कराने वाले लिपिक को मंगलवार को गिरफ्तार किया है। एसटीएफ द्वारा मंगलवार शाम जारी एक बयान के अनुसार उप्र एसटीएफ को फर्जी मार्कशीट/बीए की डिग्री के आधार पर नौकरी करने वाले फर्जी शिक्षक नथुनी प्रसाद भारती व फर्जी अंक पत्र बनवाने वाले लिपिक शिव प्रसाद को जिला देवरिया से गिरफ्तार किया है।इनके पास से 1680 रुपए नगद, 1 डीएल, 1 पैन कार्ड, 2 आधार कार्ड और 1 आरसी पेपर समेत बुलेट मोटर साइकिल बरामद की गई है।बयान में बताया गया कि नथुनी प्रसाद भारती पुत्र ग्राम-शेरवा बभनवली थाना-खुखुन्दू जनपद देवरिया तथा शिव प्रसाद ग्राम-चकिया थाना भाटपाररानी जनपद-देवरिया का रहने वाला था। जांच में पता चला था कि फर्जी डिग्री पर नथुनी कूटरचित अंकपत्रों के आधार पर प्राथमिक विद्यालय, जमुना छापर विकास क्षेत्र भलुअनी, जनपद देवरिया में अध्यापक पद पर नौकरी कर रहा है एवं नथुनी प्रसाद भारती का स्नातक (बी0ए0) का अंक पत्र कूटरचित है। पूछताछ पर पता चला कि उसको यह फर्जी डिग्री शिव प्रसाद ने बनाकर दी थी । इसी आधार पर जांच के बाद दोनों को गिरफ्तार किया गया और इनसे पूछताछ कर गिरोह के अन्य सदस्यों के बारे में पता लगाया जा रहा है । गोरखपुर के प्रभारी सत्यप्रकाश सिंह के नेतृत्व में टीम ने खुखुंदू चौराहे से मदन मोहन मालवीय पीजी कालेज के प्रधान लिपिक शिव प्रसाद व खुखुंदू थाना क्षेत्र के ग्राम शेरवा बभनौली निवासी नथुनी प्रसाद को गिरफ्तार किया गया है। नथुनी खुखुंदू थाना क्षेत्र के जमुना छापर स्थित प्राथमिक विद्यालय में प्रधानाध्यापक के पद पर तैनात था। एसटीएफ प्रभारी के अनुसार शिव प्रसाद ने बताया कि नथुनी को उसने 1992 में अपने महाविद्यालय से फर्जी कागजात तैयार कर दूसरे के नाम पर स्नातक की डिग्री दिलाई। इतना ही नहीं, बीएड के अंक पत्र में भी कूटरचना की। इसी फर्जी डिग्री पर नथुनी नौकरी कर रहा था। शिव प्रसाद फर्जी कागजात तैयार कराकर सैकड़ों लोगों को नौकरी दिला चुका है। सरगना ने गोरखपुर विश्वविद्यालय के एक लिपिक के भी शामिल होने की बात कही है।एसटीएफ प्रभारी ने खुखुंदू थाने में मुकदमा दर्ज कराया है। टीम में एसटीएफ प्रभारी के अलावा एसएन सिंह, आशुतोष तिवारी, यशवंत सिंह आलोक राय शामिल रहे। बता दें कि, फर्जी कागजात तैयार कराकर नौकरी दिलाने के आरोप में शिव प्रसाद पर बस्ती में पहले भी मुकदमा दर्ज हो चुका है। इसका रैकेट पूर्वांचल में सक्रिय है।सरगना शिव प्रसाद ने परिषदीय व अनुदानित विद्यालयों में नौकरी कर रहे तीन दर्जन लोगों के कागजात फर्जी होने के बारे में जानकारी दी। अब एसटीएफ की नजर उन लोगों की तरफ है। एसटीएफ सूत्रों का कहना है कि जल्द ही उन शिक्षकों के कागजात की भी जांच की जाएगी। नथुनी द्वारा भी फर्जी कागजात तैयार कराकर परिषदीय विद्यालयों में दर्जनों लोगों को नौकरी दिलाने की बात सामने आई है।प्रधान लिपिक शिव प्रसाद महाविद्यालय में छात्रवृत्ति घोटाले के मामले में पहले भी जेल जा चुका है। इसके बाद भी वह अपने कारनामों से बाज नहीं आया। वह अधिकारियों के फर्जी हस्ताक्षर करने का भी माहिर बताया जाता है।

आरआरआरकीटीमपहुंचीअमृतसरस्वर्णमंदिरमेंटेकामाथाMandira Bedi B'DAY Special : मंदिरा बेदी जैसी टोंड बॉडी पाने के लिए फॉलो करें ये वर्ककआउट और डाइट रूटीन******Highlightsफेंमस एक्ट्रेस और टीवी प्रेजेंटर हर साल 15 अप्रैल को अपना जन्मदिन मनाती हैं। भला इस खूबसूरत अदाकारा को कौन नहीं जानता होगा जिसने इतने सारे क्रिकेट मैचों की मेजबानी की हो। एक्ट्रेस न सिर्फ अपने टैलेंट के लिए जानी जाती है बल्कि उनकी साड़ी क्‍लेक्‍शन भी लोगों को खूब प्रभावित करती है। मंदिरा बेदी का जन्म 15 अप्रैल 1972 को कोलकाता में हुआ था। उनके पिता का नाम वीरेंद्र सिंह बेदी और मां का नाम गीता बेदी था।टैलेंट और साड़ी क्‍लेक्‍शन के अलावा मंदिरा बेदी अपनी फिटनेस के लिए भी जानी जाती हैं। वह अक्सर अपनी फिटनेस को लेकर चर्चा में रहती हैं। उनके देख उनकी उम्र का अंदाजा लगा पाना बेहद मुश्किल हो जाता है। वह फिट रहने में सिर्फ इसलिए सफल हैं क्योंकि मंदिराएक दिन भी वर्कआउट नहीं छोड़ती है।मंदिरा बेदी देश भर में कई महिलाओं के लिए प्रेरणा है। हमेशा से ही अच्छे स्वास्थ्य और वर्कआउट को एक्ट्रेस बढ़ावा देती रही हैं। उनका सोशल मीडिया एकाउंट भी उनके वर्कआउट के वीडियोज और फोटोज से भरा हुआ है। खुद को शेप में रखने के लिए उनके द्वारा की गई मेहनत वाकई काबिले तारीफ है।हाल ही में एक्ट्रेस ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर अपने वर्कआउट रूटीन का एक वीडियो शेयर किया है। इस वीडियो में सूर्य नमस्कार के सेट के साथ उन्होंने अपनी सुबह की शुरुआत कैसे की बताया है। हाल ही में उन्होंने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर अपने वर्कआउट रूटीन का वीडियोशेयर किया है।उनके इस वर्कआउट के वीडियो में आप देख सकते हैं कि इसमें वह वेट और एक्सरसाइज बॉल का इस्तेमाल कर रही हैं साथ ही सभी को वर्कआउट गोल दे रही हैं। उसके बाद अगली एक्‍सरसाइज में उन्‍हें अपने शरीर को एक्‍सरसाइज बॉल पर स्‍ट्रेच करते हुए वेट के साथ हाथ का वर्कआउट करते देखा जा सकता है।आजकल ज्यादातर महिलाएं 50 स्क्वाट्स करने में भी कतराती हैं, लेकिन मंदिरा खुद को फिट रखने के लिए कई चुनौतियों का सामना करती हैं। उन्होंने इस वीडियो में 1 हजार स्क्वाट्स किए हैं। हम से अधिकतर महिलाएं संडे के दिन आराम करना पसंद करती हैं। लेकिन मंदिरा संडे के दिन भी एक्‍सरसाइज करती हैं। एक्ट्रेस ने खुद के इस वीडियो को शेयर करते हुए अपने फैन्‍स को बताया है।अगर आप भी मंदिरा बेदी की तरह टोंड बॉडी पाना चाहते हैं तो उनकी तरह रोजाना वर्कआउट जरूर करें। आप चाहें तो इनकेवर्कआउट को फॉलों कर सकते हैं।आरआरआरकीटीमपहुंचीअमृतसरस्वर्णमंदिरमेंटेकामाथादेश में 40% तक सब्जी और फल की बर्बादी, 10% अनाज हो जाता है खराब: IARI******40 प्रतिशत तक फल सब्जी होती हैं बर्बाद: IARIआईएआरआई के निदेशक डॉ. ए.के. सिंह ने आईएएनएस से एक खास बातचीत के दौरान कहा कि देश में कुल उत्पादन का 30 से 40 फीसदी तक फलों और सब्जियों की बर्बादी होती है जबकि कुल उत्पादन का 10 फीसदी अनाज खराब हो जाता है। उन्होंने कहा कि अगर फलों, और अनाज का सही तरीके से परिरक्षण हो तो यह की दोगुनी करने का लक्ष्य हासिल करने में सहायक होगा।आईएआरआई द्वारा विकसित 'पूसा फार्म सन फ्रिज' ऑन फार्म स्टोरेज के लिए काफी कारगर साबित होगा। डॉ. सिंह ने बताया कि इसमें दो टन तक हरी सब्जियों, ताजे फलों और फूलों का भंडारण किया जा सकता है और यह पूरी तरह सौर उर्जा से संचालित है। उन्होंने कहा, "दिन के समय सौर उर्जा से एसी चलता है और रात के समय इसमें मौजूद ठंडा पानी को एक नई तकनीक से इसकी छत पर सर्कुलेट किया जाता है जिससे तापमान चार से 12 डिग्री सेंटीग्रेड के बीच रहता है जिससे फल व सब्जियों का भंडारण सुरक्षित तरीके से किया जाता है।"उन्होंने बताया कि 'पूसा फार्म सन फ्रिज' को एक जगह से दूसरी जगह भी आसानी से ले जाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि किसानों के लिए यह काफी उपयोगी साबित होगा। एक फ्रिज का बनाने की लागत पांच से सात लाख रुपये आई है। डॉ. ए.के. सिंह ने कहा कि देश से फलों और सब्जियों के निर्यात की बड़ी संभावना है और इसके लिए संस्थान निरंतर निर्यात वाली वेरायटी विकसित करने की दिशा में काम कर रहा है। इसी क्रम में निर्यात के मकसद से रंगीन छिलके और कम मिठास वाले आम की नई किस्में पूसा मनोहरी और पूसा दीपशिखा द्वारा विकसित की गई हैं जिनका भंडारण ज्यादा दिनों तक किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि जल्द ही आम की इन किस्मों के पौधे किसानों को उपलब्ध कराए जाएंगे।डॉ. सिंह ने बताया कि धान की पराली के दहन की समस्या से निजात दिलाने में संस्थान द्वारा विकसित पूजा डिकंपोजर आने वाले दिनों में काफी सहायक साबित होगा क्योंकि इससे 25 दिनों के भीतर धान की पराली गला दी जाती है। आईएआरआई निदेशक ने बताया कि पूसा द्वारा संपूर्ण नामक एक ऐसा तरल जैव उर्वरक विकसित किया गया है जिससे जमीन में पोटाश, फास्फोरस और नाइट्रोजन की उपलब्घता बढ़ा कर जमीन की उर्वरा शक्ति बढ़ जाती है।उन्होंने धान और गेहूं की विकसित नई किस्मों की भी जानकारी दी और कहा कि तीन दिवसीय पूसा कृषि विज्ञान मेले में तमाम फसलों की नई किस्मों, कृषि प्रौद्योगिकी यंत्रों और नवाचारों की प्रदर्शनी लगाई गई है और इस बार किसान ऑनलाइन भी इस मेले का अवलोकन कर सकते हैं। यह मेला 25 फरवरी से 27 फरवरी तक चलेगा। डॉ. सिंह ने बताया कि इस बार पूसा कृषि विज्ञान मेला की थीम आत्मनिर्भर किसान रखा गया है जिसमें हमने यह बताने की कोशिश की है कि किस प्रकार प्रौद्योगिकी के अनुप्रयोग से कृषि को उन्नत किया जा सकता है और किसानों को सशक्त व समृद्ध बनाया जा सकता है। उन्होंने बताया कि इसके लिए मेले में एक खास सत्र का भी आयोजन किया जा रहा है।

'आरआरआर' की टीम पहुंची अमृतसर, स्वर्ण मंदिर में टेका माथा

आरआरआरकीटीमपहुंचीअमृतसरस्वर्णमंदिरमेंटेकामाथाटीम इंडिया के साथ साथ घूम रहा ये खिलाड़ी, ऋषभ पंत और हार्दिक पांड्या ने नहीं दिया मौका******Highlightsभारत और आयरलैंड के बीच दो टी20 मैचों की सीरीज खत्म हो गई है। भारतीय टीम ने एक बार फिर सीरीज जीत ​ली है। सीरीज के दोनों मैच टीम इंडिया ने अपने नाम किए हैं। हालांकि आयरलैंड ने भी अपने घर पर अच्छा प्रदर्शन किया और कई बार टीम भारतीय टीम को टक्कर देती हुई भी नजर आई। टीम इंडिया भी इस सीरीज में कई सीनियर खिलाड़ी नहीं खेल रहे थे और कप्तानी की जिम्मेदारी हार्दिक पांड्या ने अच्छी तरह से निभाई। इस बीच ये सीरीज जम्मू एक्सप्रेस के नाम से मशहूर उमरान मलिक के लिए यादगार रही, जिन्हें इस सीरीज में डेब्यू करने का मौका मिला। लेकिन एक और तेज गेंदबाज इस सीरीज में था, जिसे खेलने का मौका नहीं दिया गया। हम बात कर रहे हैं अर्शदीप सिंह की।तेज गेंदबाज अर्शदीप सिंह आईपीएल 2022 में पंजाब किंग्स की ओर से खेलते हुए नजर आए​ थे। उन्होंने अपनी टीम के लिए बेहतरीन प्रदर्शन भी किया। यही कारण रहा कि जब भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच टी20 सीरीज के लिए टीम इंडिया का ऐलान किया गया तो अर्शदीप सिंह और उमरान मलिक दोनों को टीम में रख गया। भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच पांच टी20 मैच खेले गए, लेकिन ताज्जुब की बात ये रही कि कप्तान ऋषभ पंत और कोच राहुल द्रविड़ ने पूरी सीरीज में एक ही प्लेइंग इलेवन उतरी। न तो उमरान मलिक को मौका मिला और न ही अर्शदीप सिंह को डेब्यू का मौका मिला। इसके बाद पूरी संभावना थी कि भारत और आयरलैंड की सीरीज के लिए जब टीम इंडिया का ऐलान किया जाएगा तो इन दोनों खिलाड़ियों को भी शामिल किया जाएगा, क्यों​कि बिना मौका दिए, उन्हें टीम से बाहर भी कैसे किया जा सकता था। हुआ भी ऐसा ही। उमरान मलिक और अर्शदीप सिंह तो टीम में थे ही साथ ही नए खिलाड़ी राहुल त्रिपाठी को भी मौका दिया गया। अब आयरलैंड के खिलाफ सीरीज में तीन खिलाड़ी ऐसे हो गए, जिन्हें डेब्यू करना था। जहां एक ओर दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज में ऋषभ पंत कप्तान थे और कोच राहुल द्रविड़ थे, वहीं आयरलैंड सीरीज में सब कुछ बदल गया। कप्तानी हार्दिक पांड्या के कंधों पर थी और कोच की जिम्मेदारी वीवीएस लक्ष्मण के पास थी।भारत और आयलैंड के बीच जब सीरीज का पहला मैच खेला गया तो कप्तान हार्दिक पांड्या ने टॉस के वक्त बताया कि उमरान मलिक आज का मैच खेल रहे हैं। उमरान मलिक ने डेब्यू किया, लेकिन पहले मैच में उन्हें केवल एक ही ओवर डालने का मौका मिला। टीम इंडिया ने मैच जीत लिया। उसके बाद उम्मीद थी कि अगले मैच में अर्शदीप सिंह को डेब्यू का मौका मिल सकता है। लेकिन दूसरे मैच में भी अर्शदीप सिंह को मौका नहीं मिला। इस तरह से लगातार दो सीरीज में टीम इंडिया के साथ घूम रहे अर्शदीप सिंह एक बा​र फिर डेब्यू करने से चूक गए। वहीं पहली बार टीम इंडिया में शामिल किए गए राहुल त्रिपाठी को भी खेलने का मौका नहीं मिल सका।आरआरआरकीटीमपहुंचीअमृतसरस्वर्णमंदिरमेंटेकामाथा500 रुपए के नोट को लेकर सरकार ने दी ये जानकारी, ऐसे चेक करें असली और नकली नोट******fake news These rs 500 currency notes are not fake, government clarifies 31 दिसंबर 2019 से 2 हजार के नोट बंद होने की झूठी खबर के बाद सोशल मीडिया पर 500 रुपए के असली और नकली नोट को लेकर चर्चा तेज हो गई है। सोशल मीडिया पर 500 के दो नोट को लेकर एक संदेश तेजी से वायरल हो रहा है। संदेश में कहा जा रहा है कि 500 रुपए के उस नोट को मत लें जिसमें हरे रंग की पट्टी महात्मा गांधी की फोटो के नजदीक है, इस तरह के नोट को नकली बताया जा रहा है। मैसेज में कहा जा रहा है कि ऐसे नोट को ही एक-दूसरे से लें जो गवर्नर के हस्ताक्षर के करीब है यानी कि नोट के बीच में है। के असली और नकली होने की इंटरनेट पर मौजूद खबरों के बीच पीआईबी की फैक्ट चेकिंग टीम ने वायरल पोस्ट की तहकीकात शुरू की। पीआईबी इंडिया ने अपने ऑफिशियल ट्विटर (@PIB_India) हैंडल से इस झूठ का पर्दाफाश करते हुए अपने ट्वीट में लिखा है कि वॉट्सऐप पर एक टिकटॉक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें दावा किया गया है कि जिस नोट में हरे रंग की पट्टी गांधी जी की फोटो के नजदीक है, वह फेक है। पीआईबी ने साथ ही स्पष्ट किया है कि ये दोनों नोट स्वीकार्य करेंसी हैं। प्रेस इनफार्मेशन ब्यूरो का निष्कर्ष है कि यह फेक न्यूज है।बता दें कि पीआईबी ने सरकार और उसकी नीतियों को लेकर सोशल मीडिया पर चलने वाली फेक न्यूज को चिह्नित करने के लिए एक फैक्ट चेक यूनिट बनाई है। इस यूनिट में पीआईबी के कर्मचारी हैं। साथ ही बाहर से भी संविदा पर कर्मचारियों की नियुक्ति की गई है। यह टीम वॉट्सऐप, ट्विटर, फेसबुक जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर प्रसारित होने वाले पोस्ट को मॉनिटर करती है।मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, अगर आपको भी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म जैसे वॉट्सऐप, ट्वीटर और फेसबुक में किसी पोस्ट की सत्यता पर संदेह है तो आप उसे पीआईबी को भेज सकते हैं। इसके लिए आपको संबंधित पोस्ट का स्क्रीनशॉट पर ईमेल करना होगा। गौरतलब है कि, पीआईबी टीम केवल उन्हीं वायरल खबरों के तथ्य को खंगालेगी जिनका सरकार के मंत्रालयों या विभागों से संबंध होगा।समाचार एजेंसी पीटीआई ने आरबीआई आंकड़ों के हवाले से अपनी रिपोर्ट में कहा है कि वित्त वर्ष 2018-19 में 500 रुपए के नकली नोटों की संख्या में उससे पिछले साल के मुकाबले 121 फीसद का उछाल आया है।आरआरआरकीटीमपहुंचीअमृतसरस्वर्णमंदिरमेंटेकामाथाDigvijay Singh on Maharashtra Politics: 'BJP बड़ा अन्याय करती है', शिंदे के CM बनने पर दिग्विजय सिंह ने ज्योतिरादित्य सिंधिया पर कसा तंज******Highlightsमहाराष्ट्र में सियासी उलटफेर के बाद राज्य में एकनाथ शिंदे और बीजेपी की सरकार बन गई है। महाराष्ट्र में 39 विधायकों के साथ बगावत करने वाले एकनाथ शिंदे मुख्यमंत्री बन गए हैं, वहीं 106 विधायकों के बावजूद बीजेपी नेता और पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस को डिप्टी सीएम बनाया गया है। इस पर अब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कांग्रेस से बगावत कर बीजेपी की सरकार बनवाने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया को लेकर चुटकी ली है। उन्होंने कहा कि सिंधिया को भी मुख्यमंत्री बनाना चाहिए था और शिवराज सिंह चौहान को डिप्टी सीएम।दिग्विजय सिंह ने ट्वीट किया, "बीजेपी बड़ा अन्याय करती है। एकनाथ शिंदे जी को बगावत करने पर मुख्यमंत्री पद दे कर देवेंद्र फडणवीस को उपमुख्यमंत्री बना दिया। मध्य प्रदेश में भी सिंधिया जी को मुख्यमंत्री बनाकर शिवराज चौहान जी को उप-मुख्यमंत्री बना सकते थे। लेकिन नहीं किया। सरासर दोहरा मापदंड है।" दिग्विजय सिंह ने अपने ट्वीट के साथ ज्योतिरादित्य सिंधिया को लेकर एक वीडियो को भी शेयर किया, जिसमें केंद्रीय मंत्री सिंधिया इस मुद्दे पर मीडिया कर्मियों को जवाब दे रहे हैं।गौरतलब है कि बीते दिन केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ग्वालियर में मीडिया से बातचीत करते हुए एकनाथ शिंदे और देवेंद्र फडणवीस को बधाई देते हुए उम्मीद जताई कि यह सरकार अच्छा काम करेगी। इस दौरान जब उनसे पूछा गया कि क्या उन्हें भी मुख्यमंत्री बनाए जाने की उम्मीद है, तो उन्होंने खुद को जनता का सेवक बताते हुए कहा कि ना तो उन्होंने ना ही उनके परिवार से किसी व्यक्ति ने कभी किसी पद की लालसा की है।इस दौरान सिंधिया ने कहा, "मैं आपका सेवक हूं। मैं ग्वालियर की जनता का सेवक हूं। मैं मध्य प्रदेश की जनता का सेवक हूं। ना कभी राजमाता जी ने, ना कभी मेरे पिता जी ने, ना मैंने कभी कुर्सी या पद का सोचा है। मैं सिर्फ सेवक हूं और सिर्फ सेवक के आधार पर 30 साल जनसेवा के पथ पर चला हूं। जो भी जिम्मेदारी मुझे दी गई थी, उसे पूरी तरह से निभाने की कोशिश की है। मेरे लिए कोई उपाधि सबसे अहम है, तो वह है जनसेवा की।''

'आरआरआर' की टीम पहुंची अमृतसर, स्वर्ण मंदिर में टेका माथा

आरआरआरकीटीमपहुंचीअमृतसरस्वर्णमंदिरमेंटेकामाथाPM मोदी आज गुजरात में 1,100 करोड़ रुपए की परियोजनाओं का करेंगे उद्घाटन******पीएम मोदी शुक्रवार को गुजरात में 1,100 करोड़ रुपए की परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को वीडियो काफ्रेंस के जरिए गुजरात में 1,100 करोड़ रुपए से ज्यादा की परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगे और राष्ट्र को समर्पित करेंगे। इन परियोजनाओं में पुनर्विकसित गांधीनगररेलवे स्टेशन के ऊपर बना एक नया पांच सितारा होटल शामिल है। गुजरात सरकार के अधिकारियों ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी। गांधीनगर रेल और शहरी विकास निगम लिमिटेड (गरुड़) के प्रबंध निदेशक एस एसराठौड़ ने गांधनीगर में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि 318 कमरों वाला यह लक्जरी होटल 790 करोड़ रुपए की लागत से बना है। गरुड़ गुजरात सरकार और रेल मंत्रालय द्वारा स्थापित एक विशेष प्रायोजन कंपनी है।उन्होंने बताया कि गांधीनगर रेलवे स्टेशन का पुनर्विकास और उसके ऊपर पांच सितारा होटल का निर्माण जनवरी 2017 में शुरू हुआ था और प्रधानमंत्री मोदी ने इनकी आधारशिला रखी थी। अब दोनों ही तैयार हैं औरप्रधानमंत्री शुक्रवार शाम चार बजे उनका उद्घाटन करेंगे। साथ ही होटल के ठीक सामने एक सम्मेलन केंद्र स्थापित किया गया है जिसका नाम महात्मा मंदिर है। यहां संगोष्ठियों और सम्मेलनों में हिस्सा लेने वाले राष्ट्रीय,अंतरराष्ट्रीय अतिथि इस होटल में ठहर सकते हैं। राठौड़ ने कहा, "गांधीनगर रेलवे स्टेशन देश का पहला ऐसा पुनर्विकसित स्टेशन है जहां सुविधाएं हवाई अड्डों जैसी हैं।"उन्होंने कहा कि स्टेशन पर दो ऐस्केलेटर, दो ऐलीवेटर और प्लेटफॉर्म को जोड़ने वाले दो भूमिगत पैदल पार पथ हैं। विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग के सचिव विजय नेहरा ने कहा कि इसके बाद प्रधानमंत्री प्रेस कांफ्रेंस के जरिएअहमदाबाद के साइंस सिटी में तीन नये आकर्षणों का उद्घाटन करेंगे। इन आकर्षणों में एक एक्वाटिक गैलरी, एक रोबोटिक गैलरी और एक नेचर पार्क शामिल हैं। एक्वाटिक गैलरी का निर्माण 260 करोड़ रुपए की लागत सेकिया गया है और यह देश का सबसे बड़ा एक्वेरियम है। रोबोटिक गैलरी का निर्माण 127 करोड़ रुपए की लागत से किया गया है और इसमें 79 अलग-अलग प्रकार के 200 रोबोट रखे गए हैं।नेहरा ने बताया कि 14 करोड़ रुपए की लागत से बना नेचर पार्क 20 एकड़ क्षेत्र में फैला है और उसमें जानवरों की मूर्तियां बनी हैं और अलग-अलग तरह के उद्यान भी हैं। अहमदाबाद के संभागीय रेल प्रबंधक दीपक कुमार झाने बताया कि इसके अलावा प्रधानमंत्री रेलवे की कई परियोजनाओं का उद्घाटन एवं राष्ट्र को समर्पण करेंगे जिनमें गांधीनगर एवं वाराणसी के बीच एक नयी साप्ताहिक सुपरफास्ट ट्र्रेन, गांधीनगर एवं मेहसाना के बीच एक मेमू(मेनलाइन इलेक्ट्रिक मल्टीपल यूनिट) ट्रेन, 54 किलोमीटर लंबी विद्युतीकृत मेहसाना-वरेठा ब्रॉड गेज रेल लाइन और सुरेंद्रनगर एवं पिपावाव स्टेशन के बीच 266 किलोमीटर लंबा रेल खंड शामिल है। उन्होंने कहा कि मोदी वाडनगर रेलवे स्टेशन की नयी इमारत का भी उद्घाटन करेंगे जिसका निर्माण 8.5 करोड़ रुपए की लागत से किया गया है।आरआरआरकीटीमपहुंचीअमृतसरस्वर्णमंदिरमेंटेकामाथाकिसानों के लिए खुशखबरी, इस राज्य में फसल के नुकसान का मिलेगा पूरा मुआवजा******Highlightsहरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने लगातार हो रही भारी बारिश के कारण फसलों के नुकसान की आशंका से ग्रस्त किसानों की चिंता कम करने का प्रयास करते हुए मंगलवार को कहा कि उन्होंने अधिकारियों को विशेष सर्वे करने का निर्देश दे दिया है। पंचकूला में एक कार्यक्रम से इतर उन्होंने कहा कि किसानों को उनके नुकसान की पूरी-पूरी भरपाई की जाएगी। गौरतलब है कि खट्टर का यह आश्वासन आने से पहले राज्य में मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने राज्य में सत्तारूढ़ भाजपा-जजपा से किसानों को उनकी फसल के नुकसान की जल्दी भरपाई करने की मांग की थी।कांग्रेस ने सरकार से खेतों में जमा बारिश का पानी निकालने का भी जल्दी कोई इंतजाम करने की मांग की थी। आढतियों द्वारा हाल में किए गए प्रदर्शनों से जुड़े एक सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने अपनी हड़ताल वापस ले ली है और उनकी कुछ मांगों को मान लिया गया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने केन्द्र सरकार को उनकी मांगों के संबंध में पत्र लिखा है जिसमें आढ़तियों/बिचौलियों के लिए कमीशन बढ़ाने की मांग भी शामिल है।इसबीच, चंडीगढ़ हवाई अड्डे का नाम शहीद भगत सिंह के नाम पर रखने की केन्द्र की घोषणा को लेकर खट्टर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद दिया। खट्टर ने कहा, ‘‘यह बहुत शुभ कार्य होगा कि शहीद भगत सिंह के जन्मदिन, 28 सितंबर को हवाई अड्डे का नाम आधिकारिक रूप से उनके नाम पर रखा जाएगा।’’रियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने रविवार को कहा कि स्कूलों में जल्द ही 18,000 शिक्षकों की भर्ती की जाएगी। इनमें से 11,000 नियमित शिक्षकों की भर्ती की जाएगी और शेष हरियाणा कौशल रोजगार निगम के माध्यम से नियुक्त किए जाएंगे। रोहतक में महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय के परिसर में आयोजित एक कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने कहा कि, सरकार गुणवत्तापूर्ण स्कूली शिक्षा सुनिश्चित करने के लिए लगातार काम कर रही है।कक्षा 10, 11 और 12 के छात्रों को पांच लाख टैबलेट वितरित किए गए हैं, जबकि 2.5 लाख टैबलेट जल्द ही प्रदान किए जाएंगे। उन्होंने कहा, हरियाणा यह पहल करने वाला देश का पहला राज्य है। अब, न केवल अन्य राज्यों से बल्कि विदेशों से भी लोग इस पहल की सराहना कर रहे हैं और ऐसी योजनाओं का मसौदा तैयार करने और उन्हें लागू करने के लिए आगे बढ़ रहे हैं।

'आरआरआर' की टीम पहुंची अमृतसर, स्वर्ण मंदिर में टेका माथा

आरआरआरकीटीमपहुंचीअमृतसरस्वर्णमंदिरमेंटेकामाथानोटबंदी के बाद 23 गुना बढ़ा डिजिटल ट्रांजैक्‍शन, मार्च तक 2,425 करोड़ रुपए का हुआ लेनदेन****** नोटबंदी के बाद से डिजिटल ट्रांजैक्‍शन 23 गुना बढ़ा है। नवंबर में नोटबंदी की घोषणा के बाद से इस साल मार्च तक 64 लाख डिजिटल ट्रांजैक्‍शन के जरिये 2,425 करोड़ रुपए का लेनदेन किया गया, जो कि इस अवधि से पहले हुए डिजिटल लेनदेन के मुकाबले 23 गुना अधिक है।नीति आयोग ने एक बयान में कहा कि मार्च 2017 तक कुल 63,80,000 डिजिटल लेनदेन हुए, जो करीब 23 प्रतिशत की वृद्धि है। इनमें कुल 2,425 करोड़ रुपए मूल्य का लेनदेन किया गया, जबकि पिछले साल नवंबर 2016 तक डिजिटल लेनदेन की संख्या 2,80,000 थी, जिनमें करीब 101 करोड़ रुपए की राशि का लेनदेन हुआ था।बयान में कहा गया है कि आधार आधारित भुगतान की संख्या भी मार्च 2017 में बढ़कर पांच करोड़ हो गई, जो नवंबर 2016 में ढाई करोड़ थी। इसके अलावा तत्काल भुगतान सेवा (IMPS) से लेनदेन भी मार्च 2017 में बढ़कर 6.7 करोड़ हो गए, जो नवंबर 2016 में 3.6 करोड़ थे।8 नवंबर 2016 को 500 और 1000 के पुराने नोट बंद करने की घोषणा के बाद सरकार ने डिजिटल पेमेंट को प्रोत्‍साहित करने के लिए 25 दिसंबर को लकी ग्राहक योजना और डिजीधन व्‍यापार योजना को लॉन्‍च किया था। चालू वित्‍त वर्ष में 2500 करोड़ ट्रांजैक्‍शन का लक्ष्‍य हासिल करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तकरीबन 75 शहरों लेस कैश टाउनशिप घोषित किया है।

आरआरआरकीटीमपहुंचीअमृतसरस्वर्णमंदिरमेंटेकामाथालुफ्थांसा लेकर आया स्‍टार्टअप एक्‍सपो का चौथा संस्‍करण, 28 सितंबर से होगा इसका आयोजन******Lufthansa Start-up Expo 4: Unparalleled ecosystem for start-up success की सफलता के लिए भारत के सबसे बड़े ईकोसिस्‍टम लुफ्थांसा स्‍टार्टअप्‍स एक्‍सपो का चौथा संस्‍करण 28 सितंबर, 2019 से गुरुग्राम के एपिक सेंटर में आयोजित होगा। लुफ्थांसा और टीआईई दिल्‍ली-एनसीआर द्वारा आयोजित चौथे एक्‍सपो में एक विशेष ‘फंडिंग फेस्टिवल’ का भी आयोजन किया जाएगा, जहां स्‍टार्ट-अप्‍स को 100 से अधिक निवेशकों के साथ संपर्क करने का अवसर मिलेगा। इसके साथ ही उन्‍हें वित्‍त पोषण के संबंध क्‍या, कब और क्‍यों पर महत्‍वपूर्ण जानकारी भी दी जाएगी। इस एक्‍सपो में उभरते उद्यमियों को उनकी सफलता के लिए जरूरी हर चीज के बारे में बताया जाएगा, वो भी एकदम मुफ्त। एक्‍सपो स्‍टार्ट-अप्‍स को एक ऐसा मंच प्रदान करेगा, जहां उन्‍हें बेजोड़ विकास के अवसर, निवेशक संपर्क, जानकारी, मार्गदर्शन, भागीदारी के अवसर के साथ ही साथ शीर्ष इंडस्‍ट्री प्रतिभागियों के साथ बिजनेस नेटवर्किंग बनाने का मौका मिलेगा।इस अवसर पर लुफ्थांसा ग्रुप एयरलाइन के सीनियर डायरेक्‍टर, सेल्‍स साउथ एशिया, जॉर्ज एटीयिल ने कहा कि स्‍टार्टअप एक्‍सपो सफलता के लिए नए दरवाजे खोलता है। लुफ्थांसा अगले दशक के लिए युवा और उभरते उद्यमियों को पोषण देने के लिए प्रतिबद्ध है। इस साल हम एक कदम आगे बढ़ते हुए वित्‍त पोषण से जुड़ी गहरी जानकारी लेकर आ रहे हैं, जो स्‍टार्टअप की सफलता का मूल मंत्र है।2018 के एक्‍सपो में 200 मार्गदर्शकों, 100 भागीदारों और 75 निवेशकों सहित 20,000 प्रतिभागियों ने भाग लिया था, जिसमें 500 स्‍टार्ट-अप प्रदर्शक थे। इस एक्‍सपो में एक दिन में 1200 निवेशक बैठक आयोजित की गई थीं और प्रतिभागी स्‍टार्टअप्‍स को कारोबार विस्‍तार और सफलता की जानकारी दी गई थी।आरआरआरकीटीमपहुंचीअमृतसरस्वर्णमंदिरमेंटेकामाथा2020 Delhi riots: दिल्ली विधानसभा समिति ने Facebook से 3 महीने का रिकॉर्ड पेश करने को कहा******Highlights दिल्ली विधानसभा की एक समिति ने गुरुवार को ‘फेसबुक इंडिया’ से कहा कि वह उत्तर पूर्वी दिल्ली में फरवरी 2020 में हुए दंगों से एक महीने पहले और दो महीने बाद फेसबुक पर डाली गई सामग्री पर उपयोगकर्ताओं की रिपोर्ट (शिकायत) के रिकॉर्ड पेश करे। विधानसभा की शांति और समरसता समिति के अध्यक्ष राघव चड्ढा ने फेसबुक इंडिया (मेटा प्लेटफॉर्म्स) के ‘पब्लिक पालिसी’ निदेशक शिवनाथ ठुकराल के आवेदन पर सुनवाई के बाद रिकॉर्ड पेश करने के लिए कहा।राघव चड्ढा ने के अधिकारी से कंपनी की संगठन संरचना, शिकायत सुनने की व्यवस्था, सामुदायिक मानकों और घृणा पैदा करने वाले पोस्ट की परिभाषा के बारे में भी पूछा। ठुकराल ने कहा कि फेसबुक कोई कानून प्रवर्तन एजेंसी नहीं है लेकिन जरूरत पड़ने पर वह ऐसी एजेंसियों से सहयोग करती है। सुनवाई के दौरान उन्होंने कहा, “जब असल दुनिया में घटनाएं होती हैं तो वे हमारे मंच पर भी दिखाई देती हैं। हम अपने मंच पर घृणा का प्रसार नहीं चाहते। कुछ बुरे लोग हैं जिनके विरुद्ध कार्रवाई करने की जरूरत है।”ठुकराल ने कहा कि फेसबुक में सामग्री प्रबंधन पर काम करने के लिए 40 हजार लोग हैं जिसमें से 15 हजार लोग सामग्री में संशोधन करते हैं। सामुदायिक मानकों के विरुद्ध सामग्री पाए जाने पर वह मंच से तत्काल हटा ली जाती है। समिति ने गलत, भड़काऊ और बुरी नीयत से भेजे गए संदेशों पर लगाम लगाने में सोशल मीडिया मंचों की अहम भूमिका पर विचार रखने के लिए फेसबुक इंडिया को तलब किया था।बता दें कि, समिति ने के संबंध में सोशल मीडिया की भूमिका की जांच करते हुए अब तक सात गवाहों के बयान दर्ज किए हैं। दिल्ली में फरवरी 2020 में हुए दंगों में 50 से अधिक लोगों की जान चली गई और सैकड़ों लोग घायल हो गए थे। उत्तर-पूर्वी दिल्ली में 23 फरवरी से 26 फरवरी 2020 के बीच संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के समर्थकों और इसका विरोध करने वालों के बीच हुई झड़पों में कम से कम 53 लोगों की मौत हो गई थी और सैकड़ों लोग घायल हो गए थे।

आरआरआरकीटीमपहुंचीअमृतसरस्वर्णमंदिरमेंटेकामाथाएफपीआई ने फरवरी में 14,600 करोड़ किया निवेश, बैंक शेयरों में म्यूचुअल फंडों का निवेश बढ़कर 1.16 लाख करोड़ रुपए****** विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों एफपीआई ने कराधान को लेकर स्पष्टता के बीच इस महीने अब तक भारतीय पूंजी बाजारों में 14,600 करोड़ रुपए से अधिक का निवेश किया है। वहीं, म्यूचुअल फंडों का बैंक शेयरों में निवेश जनवरी के आखिर में बढ़कर 1.16 करोड़ रुपए की रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गया।फंड्सइंडिया डॉट कॉम की प्रमुख म्युचुअल फंड रिसर्च विद्या बाला ने कहा, जनवरी 2017 में शुद्ध विक्रेता रहने के बाद एफपीआई ने बजट के बाद निवेश किया है। विशेषकर अप्रत्यक्ष स्थानांतरण पर कर के साथ साथ पूंजीगत लाभ कराधान पर स्पष्टता से उनके रख में बदलाव आया है।आरआरआरकीटीमपहुंचीअमृतसरस्वर्णमंदिरमेंटेकामाथाSARKARI NAUKARI: सिंडिकेट बैंक में नौकरी करने का शानदार मौका, 50,000 से ज्यादा मिलेगी सैलरी******अगर आपको भी सरकारी नौकरी की तलाश है तो ये खबरखास आपके लिए ही है। दरअसल सिंडिकेट बैंक ने स्पेशल ऑफिसर के छह पदों को भरने के लिए आवेदन मांगे हैं। इसके तहत सीनियर मैनेजर (डीलर-डोमेस्टिक/फॉरेक्स) के पदों पर नियुक्तियां की जाएंगी। इच्छुक और योग्य उम्मीदवारों को इन पदों के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा। आवेदन करने की अंतिम तिथि पांच सितंबर 2019 है।), पद : 03 (अनारक्षित)पद : 03 (अनारक्षित): मान्यता प्राप्त संस्थान अथवा विश्वविद्यालय से एमबीबीए/सीए/सीएफए/आईसीडब्ल्यूए डिग्री प्राप्त होनी चाहिए।- पब्लिक सेक्टर/निजी बैंक अथवा विदेशी बैंक में तीन वर्षीय कार्य करने का अनुभव होना चाहिए। न्यूनतम 25 और अधिकतम 35 वर्ष।ऑनलाइन आवेदन करने की अंतिम तिथि : 05 सितंबर 2019

आरआरआरकीटीमपहुंचीअमृतसरस्वर्णमंदिरमेंटेकामाथारक्षा कंपनियों के शेयरों में 10 प्रतिशत तक की तेजी, FDI नियमों मे नरमी का असर******Defence stock surgeनई दिल्ली। रक्षा क्षेत्र से जुड़ी कंपनियों के शेयरों में सोमवार को शुरुआती कारोबार के दौरान 10 प्रतिशत तक की तेजी देखने को मिली है। सरकार ने कहा है कि वह रक्षा विनिर्माण में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश के नियमों को आसान बनाकर ऑटोमेटिक रूट से 74 प्रतिशत एफडीआई की अनुमति देगी, जिसके बाद यह तेजी हुई। बाजार की कमजोर स्थिति के बावजूद बीएसई में हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स के शेयरों में 10 फीसदी, भारत इलेक्ट्रॉनिक्स में 5.53 फीसदी, बीईएमएल में 5.31 फीसदी, एस्ट्रा माइक्रोवेव प्रोडक्ट्स में 4.93 फीसदी और भारत डायनामिक्स में 4.71 फीसदी की तेजी दर्ज की गई।वर्तमान एफडीआई नीति के अनुसार रक्षा उद्योग में 100 प्रतिशत विदेशी निवेश की अनुमति है, जिसमें स्वचालित मार्ग से 49 प्रतिशत निवेश की इजाजत है, जबकि उससे अधिक निवेश के लिए सरकार की मंजूरी आवश्यक है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है कि रक्षा क्षेत्र के लिए स्वचालित मार्ग के तहत एफडीआई सीमा 49 प्रतिशत से बढ़ाकर 74 प्रतिशत की जाएगी।आरआरआरकीटीमपहुंचीअमृतसरस्वर्णमंदिरमेंटेकामाथाParshuram Jayanti 2022: परशुराम जयंती 3 मई को है, क्या है शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और महत्व******Highlightsहिंदू पंचांग के अनुसार वैशाख के शुक्ल पक्ष की तृतीया को भगवान परशुराम की जयंती मनाई जाती है। इस दिन अक्षय तृतीया भी मनाई जाती है। हिंदू शास्त्रों के अनुसार वैशाख मास की तृतीया तिथि को भगवान परशुराम का जन्म प्रदोष काल में हुआ था। भगवान परशुराम को भगवान विष्णु का छठा स्वरूप माना जाता है। भगवान परशुराम के बारे में कहा जाता है कि ये आज भी जीवित हैं।3 मई की सुबह 5 बजकर 20 मिनट से शुरू4 मई 2022 को सुबह 7 बजकर 30 मिनट पर समाप्ततृतीया तिथि पर सुबह ब्रह्म मुहूर्त में उठिए, सुबह दैनिक कार्यों से निवृत्त होकर स्नान करें और साफ सुथरे कपड़े पहनकर मंदिर की सफाई करें और एक चौकी में लाल कपड़ा बिछाकर भगवान परशुराम की तस्वीर या मूर्ति स्थापित करें। इसके बाद जल, अक्षत, फूल, रोली, तुलसी दल और चंदन का अर्पण करें। भोग में मिठाई और फल चढ़ाएं। भगवान परशुराम की पूजा करें और घी का दीपक जलाकर आरती करें। जो जातक व्रत रख रहे हैं वो फलाहार करें और अनाज का सेवन न करें।परशुराम जयंती का हिंदू धर्म में खास महत्व है। मान्यता है कि इस दिन विधि पूर्वक व्रत रखने से मोक्ष मिलता है, जो लोग निसंतान हैं वो अगर इस दिन व्रत रखते हैं तो उन्हें पुत्र की प्राप्ति होती है। भगवान विष्णु की कृपा होती है। भगवान परशुराम, भगवान शिव का एकमात्र शिष्य हैं, कड़ी तपस्या करके परशुराम ने भगवान शिव को प्रसन्न किया था और वरदान में उन्हें परशु (फरसा) मिला था।

सम्बंधित जानकारी
गर्म सामग्री