कुंभ मेले में एक हफ्ते में तीसरी बार लगी आग, लाखों का सामान राख

समय:2022-09-30 18:39:22स्रोत:संवेदनशीलता नेटवर्क लेखक:बिशन काउंटी

कुंभमेलेमेंएकहफ्तेमेंतीसरीबारलगीआगलाखोंकासामानराखRajasthan Politics: राजस्थान संकट पर सोनिया गांधी ने पर्यवेक्षकों से मांगी लिखित रिपोर्ट, कमलनाथ भी पहुंचे 10 जनपथ******Highlightsकांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पार्टी की राजस्थान इकाई में चल रहे संकट को लेकर पार्टी के दोनों पर्यवेक्षकों मल्लिकार्जुन खड़गे और अजय माकन से लिखित रिपोर्ट तलब की है। खड़गे और माकन ने सोनिया गांधी से सोमवार को यहां मुलाकात की। डेढ़ घंटे से अधिक समय तक चली मुलाकात के बाद माकन ने कहा कि जयपुर में रविवार शाम विधायक दल की बैठक मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की सहमति से बुलाई गई थी। उन्होंने कहा, "हमने सोनिया गांधी को पूरी जानकारी दी, उन्होंने लिखित रिपोर्ट मांगी है। हम आज रात या कल सुबह तक रिपोर्ट देंगे।"पर्यवेक्षकों ने यह भी कहा कि पार्टी की ओर से बुलाई गई विधायक दल की बैठक के समानांतर, अगर कोई बैठक बुलाई गई है, तो वह प्रथम दृष्टया ‘अनुशासनहीनता’ है। दोनों पर्यवेक्षक सीधे जयपुर से दिल्ली पहुंचे और इसके बाद 10 जनपथ पहुंचकर सोनिया गांधी से मिले। कांग्रेस के संगठन महासचिव के.सी. वेणुगोपाल भी बैठक में मौजूद थे। पार्टी के वरिष्ठ नेता कमलनाथ ने भी सोनिया गांधी से मुलाकात की है। माना जाता है कि गहलोत से कमलनाथ के अच्छे रिश्ते हैं और संकट सुलझाने की जिम्मेदारी उन्हें दी जा सकती है।उल्‍लेखनीय है कि राजस्थान में कांग्रेस विधायक दल की बैठक रविवार रात को मुख्‍यमंत्री आवास पर होनी थी, लेकिन गहलोत के वफादार कई विधायक बैठक में नहीं आए। उन्होंने संसदीय कार्यमंत्री शांति धारीवाल के बंगले पर बैठक की और फिर वहां से वे विधानसभा अध्‍यक्ष डॉ. सीपी जोशी से म‍िलने गए। राजस्थान के प्रभारी अजय माकन ने संवाददाताओं से कहा कि जब विधायक दल की कोई आधिकारिक बैठक बुलाई गई हो और यदि कोई उसी के समानांतर एक अनाधिकारिक बैठक बुलाए, तो यह प्रथमदृष्टया ‘‘अनुशासनहीनता’’ है। माकन ने कहा, ‘‘आगे देखेंगे कि इस पर क्‍या कार्रवाई होती है।’’जयपुर में गहलोत गुट के विधायकों से संवाद के बाद अजय माकन और मल्लिका अर्जुन खड़गे राजस्थान से दिल्ली लौट आए और दिल्ली में सोनिया गांधी के साथ मुलाकात करके पूरे राजस्थान के घटनाक्रम की जानकारी दी। इस बैठक में कमलनाथ और वेणुगोपाल भी मौजूद थे। लेकिन मौजदा हालात में तो अशोक गहलोत ने राजस्थान में सोनिया गांधी के पायलट प्रोजेक्ट पर ब्रेक लगा दिया है। 90 विधायकों की ताकत दिखाकर अशोक गहलोत ने फिलहाल हाईकमान को पस्त, पराजित और परेशान कर दिया है। राजस्थान में अशोक गहलोत के सियासी वीर सचिन पायलट से लेकर हाईकमान के आदेश पर लगातार तीर चला रहे हैं। राजस्थान में मीटिंग करके दिल्ली में हाईकमान के लिए शर्तें भेज रहे हैं।

कुंभमेलेमेंएकहफ्तेमेंतीसरीबारलगीआगलाखोंकासामानराखचालू सत्र में 15 नवंबर तक देश का चीनी उत्पादन 24 प्रतिशत बढ़कर 21 लाख टन, महाराष्ट्र सबसे आगे******चालू सत्र में अब तक चीनी उत्पादन 24 प्रतिशत बढ़ाHighlightsनई दिल्ली। चीनी उद्योग के प्रमुख संगठन भारतीय चीनी मिल संघ (इस्मा) के अनुसार महाराष्ट्र और कर्नाटक में अधिक उत्पादन होने के कारण भारत का चीनी उत्पादन एक अक्टूबर से 15 नवंबर के दौरान 24 प्रतिशत बढ़कर 20.9 लाख टन हो गया है। अभी तक चीनी मिलों ने 25 लाख टन चीनी निर्यात करने के संबंध में अनुबंध किया है। शुगर मार्केटिंग वर्ष अक्टूबर से सितंबर तक चलता है।इस्मा ने एक बयान में कहा, ‘‘15 नवंबर, 2021 तक, चालू 2021-22 के सत्र में चीनी का उत्पादन 20.90 लाख टन है, जो पिछले साल 15 नवंबर 2020 को 16.82 लाख टन हुआ था।’’ इसमें कहा गया है कि दक्षिण और पश्चिम में कई चीनी मिलों ने इस सत्र की शुरुआत में ही अपना परिचालन शुरू कर दिया था, जिससे चीनी का उत्पादन अधिक हुआ है। उत्तर प्रदेश में अक्टूबर के तीसरे सप्ताह में हुई बेमौसम बारिश के कारण चालू सत्र में पेराई का काम शुरु होने में कुछ दिनों की देर हुई। समीक्षाधीन अवधि के दौरान उत्तर प्रदेश में चीनी का उत्पादन पहले के चार लाख टन से घटकर 2.88 लाख टन रह गया है। हालांकि, महाराष्ट्र में चीनी का उत्पादन छह लाख टन से बढ़कर 8.91 लाख टन हो गया। कर्नाटक में, चीनी उत्पादन वर्ष 2021-21 के 15 नवंबर तक बढ़कर 7.62 लाख टन हो गया, जो एक साल पहले की अवधि में 5.66 लाख टन था।इस्मा ने कहा कि बंदरगाह की जानकारी और बाजार की रिपोर्ट के अनुसार, अभी तक चीनी के निर्यात के लिए लगभग 25 लाख टन के लिए अनुबंध किए जा चुके हैं। इसमें से लगभग 2.7 लाख टन चीनी का निर्यात अक्टूबर 2021 में किया गया, जबकि पिछले साल इसी महीने में 1.96 लाख टन का निर्यात किया गया था। नवंबर 2021 में भौतिक रूप से निर्यात किए जाने के लिए दो लाख टन से अधिक चीनी पाइपलाइन में है। इस्मा ने कहा कि एक अक्टूबर, 2021 तक 81.75 लाख टन चीनी का शुरुआती स्टॉक था और 305 लाख टन के अनुमानित चीनी उत्पादन के साथ, भारत के लिए एक और अधिशेष चीनी वाला वर्ष साबित होगा और वर्ष 2021-22 सत्र के दौरान देश से लगभग 60 लाख टन अधिशेष चीनी का निर्यात जारी रखने की आवश्यकता होगी।कुंभमेलेमेंएकहफ्तेमेंतीसरीबारलगीआगलाखोंकासामानराखFPI ने अप्रैल में अबतक बाजार से निकाले 8000 करोड़ रुपए, मार्च में की थी 11654 करोड़ की निकासी****** ने इस महीने घरेलू शेयर और बॉन्‍ड बाजार से अब तक करीब 8,000 करोड़ रुपए की निकासी की है। चीन और अमेरिका के बीच व्यापारिक तनाव तथा स्थानीय बाजार में बॉन्‍ड-यील्ड बढ़ने (बॉन्‍ड का भाव घटने) के रुझान के बीच विदेशी निवेशकों ने स्थानीय बाजारों से पूंजी की निकासी बढ़ा रखी है। इससे पहले मार्च में विदेशी निवेशकों ने शेयर बाजार में 11,654 करोड़ रुपए निवेश किए थे जबकि ऋणपत्र बाजार से नौ हजार करोड़ रुपए की निकासी की थी। एफपीआई ने फरवरी में घरेलू पूंजी बाजार से 11,674 करोड़ रुपए निकाले थे। हालिया आंकड़ों के अनुसार, 2 अप्रैल से 10 अप्रैल के दौरान एफपीआई ने शेयर बाजारों से 4,181 करोड़ रुपए और ऋणपत्र बाजार से 3,586 करोड़ रुपए निकाले।मोतीलाल ओसवाल प्राइवेट वेल्थ मैनेजमेंट के निवेश सलाह प्रमुख आशीष शंकर ने कहा कि ऋणपत्र बाजार में यील्ड बढ़ने तथा व्यापार संबंधों को लेकर अनिश्चितता कायम है। घरेलू राजनीतिक गतिविधियां, उच्च मूल्यांकन और शेयरों पर दीर्घकालिक पूंजीगत लाभ पर कर के प्रावधानों से भी बाजार के प्रति धारणा कमजोर हुई है।प्रभुदास लीलाधर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अजय बोडके ने कहा कि चौथी तिमाही के परिणामों की शुरुआत तथा वैश्विक बाजारों में अनिश्चितता के कारण घरेलू शेयर बाजार अभी स्थिति का जायजा ले रहा है।

कुंभ मेले में एक हफ्ते में तीसरी बार लगी आग, लाखों का सामान राख

कुंभमेलेमेंएकहफ्तेमेंतीसरीबारलगीआगलाखोंकासामानराखप्रियंका गांधी और रोबर्ट वाड्रा के लिए 35 लोधी एस्टेट बंगले को रातों-रात किया गया था तैयार****** कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी को एक महीने के अंदर सरकारी बंगला खाली करने का निर्देश दिया गया है। आपको बता दें कि यह वही बंगला है जहां प्रियंका गांधी, राबर्ट वाड्रा के साथ शादी के बाद से रह रही है। लोक निर्माण विभाग ने उनकी शादी के बाद इसे रातों रात तैयार कराया था। आइए आपकों बताते है इस बंगले के पीछे की इसी कहानी को।प्रियंका गांधी और राबर्ट वाड्रा की शादी 18 फरवरी 1997 को नई दिल्ली में सोनिया गांधी के आधिकारिक आवास 10 जनपथ पर हुई थी। शादी के बाद चूंकि राबर्ट वाड्रा 10 जनपथ में (घर जमाई बनकर) नहीं रहना चाहते थे इसलिए नव दंपति के लिए इसी हाई सिक्योरिटी जोन में 35 लोधी एस्टेट को सजाया गया था। यह बंगाला लुटियंस जोन में टाइप VI कैटेगरी का बंगला था जहां आसपास सचिव, मैजर और बड़े सांसद रहते थे। लंब बरामंदे वाले इस बंग्ले को रातों रात लोक निर्माण विभाग द्वारा तैयार कराया था। इस बंगले में दो अगल-अगल बेडरुम है जिसमें चिमनिया और बाथरुम अटैच है। बंगले के पीछे की तरफ चार सर्वेंट क्वाटर भी है। प्रियंका गांधी जब इस बंगले में रहने आई तो उनकी सुरक्षा में एसपीजी के 12 जवान भी तैनात किए गए थे।अब इस बंगले को प्रियंका गाधी को 1 अगस्त तक लोधी एस्टेट का बंगला खाली करना होगा। शहरी विकास मंत्रालय ने प्रियंका गांधी को बंगला खाली करने का नोटिस जारी किया है। 23 साल पहले 21 फरवरी 1997 को प्रियंका गांधी को लोधी एस्टेट में 35 नंबर सरकारी बंगला आबंटित किया गया था। उस समय प्रियंका गांधी को एसपीज सुरक्षा मिली हुई थी और उसी के आधार पर बंग्ला दिया गया था।कुंभमेलेमेंएकहफ्तेमेंतीसरीबारलगीआगलाखोंकासामानराखटाटा मोटर्स ने यात्री वाहनों के दाम 12,000 रुपए तक बढ़ाए, कच्‍चे माल की कीमतों में हुई वृद्धि****** घरेलू वाहन कंपनी टाटा मोटर्स ने अपने यात्री वाहनों के दाम 12,000 रुपए तक बढ़ा दिए हैं। यह बढ़ोतरी कच्चे माल की लागत में वृद्धि से निपटने के लिए की गई है।हमने कच्चे माल की लागत में वृद्धि के मद्देनजर यात्री वाहनों के दाम एक प्रतिशत बढ़ाए हैं। यह वृद्धि 5,000 रुपए से 12,000 रुपए के बीच है। स्‍टील और जिंक जैसे कच्चे माल की कीमत बढ़ी है, जिसके कारण कंपनी को यह कदम उठाना पड़ा है।tata tiago competitorsकुंभमेलेमेंएकहफ्तेमेंतीसरीबारलगीआगलाखोंकासामानराखदेश में कोरोना के 1,72,433 नए मामले आए, 1008 और लोगों की हुई मौत******Highlightsमें एक दिन में कोविड-19 के 1,72,433 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 4,18,03,318 हो गई। वहीं, उपचाराधीन मरीजों की संख्या घटकर 15,33,921 रह गई है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से आज जारी किए गए अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, देश में 1008 और लोगों की संक्रमण से मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 4,98,983 हो गई।देश में अभी 15,33,921 लोगों का कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज चल रहा है, जो संक्रमण के कुल मामलों का 3.67 प्रतिशत है। पिछले 24 घंटे में कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या में 87,682 कमी दर्ज की गयी। देश में मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर 95.14 प्रतिशत है। अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, संक्रमण की दैनिक दर 10.99 प्रतिशत और साप्ताहिक दर 12.98 प्रतिशत दर्ज की गई।देश में अभी तक कुल 3,97,70,414 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं और कोविड-19 से मृत्यु दर 1.19 प्रतिशत है। राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान के तहत अभी तक कोविड-19 रोधी टीकों की 167.87 करोड़ से अधिक खुराक दी जा चुकी हैं। देश में 19 दिसंबर 2020 को ये मामले एक करोड़ के पार हो गए थे। पिछले साल चार मई को संक्रमितों की संख्या दो करोड़ के पार और 23 जून 2021 को तीन करोड़ के पार पहुंच गई थी। इस साल 26 जनवरी को मामले चार करोड़ के पार पहुंच गए।इनपुट-भाषा

कुंभ मेले में एक हफ्ते में तीसरी बार लगी आग, लाखों का सामान राख

कुंभमेलेमेंएकहफ्तेमेंतीसरीबारलगीआगलाखोंकासामानराखDU Hunger Strike: दिल्ली विश्वविद्यालय के छात्र भूख हड़ताल पर बैठे, परीक्षाएं स्थगित करने की मांग******Highlights दिल्ली विश्वविद्यालय के छात्र भूख हड़ताल पर बैठ गए हैं। दिल्ली विश्वविद्यालय की फैकल्टी ऑफ लॉ के छात्रों ने परीक्षाएं स्थगित करने की मांग करते हुए भूख हड़ताल शुरू कर दी है। परीक्षाएं स्थगित करने की वजह पर छात्रों का कहना है कि अभी कोर्स पूरा नहीं हुआ है। दूसरे, चौथे और छठे सेमेस्टर के प्रदर्शनकारी छात्रों ने दो पेपरों के बीच पर्याप्त अंतर बनाए रखने के लिए डेट शीट में भी बदलाव की मांग की है।बता दें कि दिल्ली विश्वविद्यालय के कैंपस लॉ सेंटर (CLC) और लॉ सेंटर I और II के छात्र भूख हड़ताल पर बैठे हैं। उन्होंने दावा किया कि उनका कोर्स खत्म नहीं हुआ है और ऑनलाइन क्लास अभी भी चल रही हैं लेकिन परीक्षाएं 10 अगस्त से होने जा रही हैं। छात्रों का कहना है कि विश्वविद्यालय जब तक परीक्षा स्थगित नहीं कर देता, तब तक उनकी भूख हड़ताल खत्म नहीं होगी।अखिल भारतीय छात्र संघ (आइसा) और क्रांतिकारी युवा संगठन (केवाईएस) के सदस्यों ने तीन अगस्त को दिल्ली विश्वविद्यालय में प्रस्तावित फीस बढ़ोतरी और चार साल के स्नातक कार्यक्रम (एफवाईयूपी) के खिलाफ आर्ट डिपार्टमेंट के बाहर प्रदर्शन किया था। वामपंथी छात्र संगठनों के प्रदर्शनकारी छात्रों ने विश्वविद्यालय से चार साल के ग्रेजुएशन प्रोग्राम की समीक्षा करने की मांग करते हुए आरोप लगाया कि यह मेन सब्जेक्ट को कम करता है और छात्रों पर वित्तीय बोझ बढ़ाता है। छात्रों ने तख्तियां लेकर नारेबाजी की जिन पर लिखा था, "फीस संरचना के ढांचे को तर्कसंगत बनाने के नाम पर फीस में बढ़ोत्तरी को बंद करें", 'एफवाईयूपी को टालें और समीक्षा करें' और 'एफवाईयूपी वापस लो'।छात्र संगठनों का यह विरोध प्रदर्शन ऐसे समय में हुआ जब एफवाईयूपी के पहले सेमेस्टर के कोर्स पर चर्चा करने के लिए दिल्ली विश्वविद्यालय की अकादमिक परिषद की बैठक हुई है। आइसा के एक कार्यकर्ता ने कहा, ‘‘हम दिल्ली विश्वविद्यालय द्वारा डिग्रियों को खत्म करने, शिक्षकों के लिए नौकरी कम करने, केवल पहले सेमेस्टर के पेपर के लिए कोर्स पास करने की जल्दबाजी की कवायद को खारिज करते हैं।’’ दिल्ली विश्वविद्यालय की योजना शैक्षणिक वर्ष 2022-23 से ही नए पाठ्यक्रम को लागू करने की है। विश्वविद्यालय की अकादमिक परिषद की बुधवार को होने वाली बैठक के दौरान 100 से अधिक स्नातक पाठ्यक्रमों पर चर्चा की जाएगी।कुंभमेलेमेंएकहफ्तेमेंतीसरीबारलगीआगलाखोंकासामानराख13 साल बाद नए अंदाज में सामने आया ‘शक्तिमान’ का टाइटल ट्रैक, अभी सुनिये******: ‘’ सीरियल का भूलना 90s और 80s किड्स के लिए मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है। क्योंकि बचपन जो जुड़ा है इस सीरियल से। सिर्फ बच्चों का ही नहीं बड़ों का भी फेवरिट हुआ करता था शक्तिमान। शो जुड़े सभी किरदार हमें बखूबी याद है। साल 1997 में शुरू हुआ ये सीरियल साल 2005 में खत्म हो गया। लेकिन 13 साल बाद इसका टाइटल ट्रैक एक बार फिर से धूम मचा रहा है।‘यूट्यूब’ चैनल मातृभूमि कप्पा टीवी ने ‘’ नाम का एक वीडियो शेयर किया है। वीडियो में शक्तिमान के टाइटल ट्रैक को कुछ युवा गायक बिल्कुल अलग अंदाज में गाते नजर आ रहे हैं। लोग ये गाना सुनकर अपनी पुरानी यादें ताजा कर रहे हैं। हालांकि कुछ लोगों का यह भी कहना है कि पुराने गाने में जो बात थी वो नए में नहीं है। ये बात है भी सच कि असली में जो मजा होता है वो फिर रीमेक में कहां होता है। आप भी देखिए ये गाना और हमें कॉमेंट करके जरूर बताइए कि आपको यह गाना कैसा लगा।नया गाना सुन लिया है तो पुराना भी सुनने का मन होने लगा होगा। यहां सुनिए पुराना गाना, और खो जाइए बचपन की यादों में।

कुंभ मेले में एक हफ्ते में तीसरी बार लगी आग, लाखों का सामान राख

कुंभमेलेमेंएकहफ्तेमेंतीसरीबारलगीआगलाखोंकासामानराखEPFO ने 2019-20 के लिए 8.5% ब्‍याज EPF खाते में डालना किया शुरू, आप इस तरह चेक कर सकते हैं बैलेंस******EPFO begins crediting 8.5 pc interest for 2019-20, How to check balanceरिटायरमेंट फंड बॉडी कर्मचारी भविष्‍य निधि संगठन (EPFO) ने अपने 6 करोड़ से अधिक अंशधारकों को नए साल 2021 का तोहफा देने के लिए गुरुवार से वित्‍त वर्ष 2019-20 के लिए कर्मचारी भविष्य निधि (EPF) पर 8. 5 प्रतिशत की दर से ब्याज का भुगतान शुरू कर दिया है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) के ज्यादातर सदस्य 2019-20 के लिए 8.5 प्रतिशत ब्याज दर के साथ अपने अपडेटेड ईपीएफ खातों को देख सकेंगे।श्रम मंत्रालय ने वित्‍त वर्ष 2019-20 के लिए देने का निर्देश पहले ही ईपीएफओ को भेज दिया था और निकाय ने पिछले वित्त वर्ष के लिए खाताधारकों के खातों में ब्याज जमा करना शुरू कर दिया है। श्रम मंत्री संतोष गंगवार ने कहा कि हमने कहा था कि 2019-20 के लिए ईपीएफ पर 8.5 प्रतिशत की दर से ब्याज देने की हम कोशिश करेंगे। हमने 2019-20 के लिए ईपीएफ पर 8.5 प्रतिशत का ब्याज देने के लिए एक अधिसूचना जारी की है। हमने अंशधारकों के खातों में ब्याज की उक्त दर को जमा करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। उन्होंने कहा कि जो सदस्य 31 दिसंबर को सेवानिवृत्त हो रहे हैं, उन्हें 8.5 प्रतिशत ब्याज (2019-20 के लिए) मिलेगा।इस साल मार्च में ईपीएफओ ​​के निर्णय लेने वाले सर्वोच्च निकाय सेंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज ने गंगवार की अध्यक्षता में 2019-20 के लिए ईपीएफ पर 8. 5 प्रतिशत ब्याज दर को मंजूरी दी थी। इस साल सितंबर में ईपीएफओ ने गंगवार की अध्यक्षता में अपने ट्रस्टियों की बैठक में 8. 5 प्रतिशत ब्याज को 8. 15 प्रतिशत और 0. 35 प्रतिशत की दो किस्तों में विभाजित करने का फैसला किया था। हालांकि, बाद में मंत्रालय ने एक बार में ही पूरे 8.5 प्रतिशत अंशदान को खाताधारकों के खातों में डालने का फैसला किया।

कुंभमेलेमेंएकहफ्तेमेंतीसरीबारलगीआगलाखोंकासामानराखBullet Train: चीन में पटरी से उतरी बुलेट ट्रेन, ड्राइवर की मौत, 7 यात्री घायल******Highlights: चीन के गुइझोऊ प्रांत में शनिवार को हुए भूस्खलन की वजह से एक बुलेट ट्रेन पटरी से उतर गई। इस हादसे में ट्रेन के ड्राइवर की जान चली गई, जबकि 8 यात्री घायल हुए हैं, जिनकी हालत स्थिर बताई जा रही है। पटरी से उतरने के बाद हुई टक्कर के कारण ट्रेन को काफी नुकसान पहुंचा है। यह हादसा दोपहर में तब हुआ जब ट्रेन दक्षिणी गुइझोऊ में एक सुरंग में घुसने जा रही थी। यह ट्रेन गुआंगजोऊ जा रही थी जो कि एक बिजनस सेंटर है।रिपोर्ट्स के मुताबिक, चीन के दक्षिण-पश्चिमी गुइयांग प्रांत से दक्षिणी प्रांत ग्वांगझाऊ की ओर जा रही बुलेट ट्रेन D2809 के 2 डिब्बे रोंगजियांग स्टेशन पर अचानक हुए भूस्खलन के कारण पटरी से उतर गए। इस हादसे में के ड्राइवर की मौत हो गई, जबकि 8 यात्रियों को चोट लगी है। युएझाई सुरंग में घुसते वक्त बुलेट ट्रेन का 7वां और 8वां डिब्बा पटरी से उतर गया। सभी घायल यात्रियों को स्थानीय अस्पताल ले जाया गया और ट्रेन पर सवार बाकी के 136 यात्रियों को सुरक्षित जगह पर पहुंचाया गया।कुंभमेलेमेंएकहफ्तेमेंतीसरीबारलगीआगलाखोंकासामानराखकांग्रेस का बड़ा हमला, 'गवर्नर ने लोकतंत्र का एनकाउंटर कर दिया'****** कर्नाटक में को सरकार बनाने का न्योता मिलने के बाद कांग्रेस और जेडीएस की तरफ से तीखी प्रतिक्रिया आई है। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि राज्यपाल ने लोकतंत्र का एनकाउंटर दिया है। उन्होंने कहा कि राज्यपाल वजूभाई वाला ने संविधान की धज्जियां उड़ा दी। वे बीजेपी का हुकुम बजानेवाले एक मुखौटे के तौर पर काम कर रहे हैं। सुरजेवाला ने कहा कि येदियुरप्पा के पास न बहुमत है और न जनमत है। कांग्रेस और जेडीएस उन्हें प्रजातंत्र को रौंदने की साजिश में सफल नहीं होने देगी। सुरजेवाला ने कहा कि हम सभी कानूनी अधिकारों का इस्तेमाल करेंगे।आपको बता दें कि राज्यपाल ने सबसे बड़े दल होने के नाते बीजेपी विधायक दल के नेता बीएस येदियुरप्पा को सरकार बनाने का न्योता दिया है। कर्नाटक की 222 सीटों पर हुए मतदान में बीजेपी को 104, कांग्रेस को 78, जेडीएस एवं बीएसपी गठबंधन को 38, और अन्य को 2 सीटों पर जीत मिली है। बीजेपी बहुमत के आंकड़े से पीछे रह गई है लेकिन सबसे बड़े दल के रूप में उभरी है। भाजपा ने 5 साल पहले हुए चुनाव में 40 सीटों पर जीत दर्ज की थी।

कुंभमेलेमेंएकहफ्तेमेंतीसरीबारलगीआगलाखोंकासामानराखIndian Nevy: बढ़ रही भारत की ताकत, पहली बार 100% देश में बना 30 मिमी हाई विस्फोटक उपयोग करेगी भारतीय नौसेना******Indian Nevy:भारत की ताकत की दुनिया में पूछपरख बढ़ रही है। देश अब रक्षा के क्षेत्र में भी आत्मनिर्भर बनने की दिशा में तेजी से आगे बढ़ रहा है। इसी बीच एक खबर भारतीय नौसेना से आई है। जानकारी के अनुसार भारतीय नौसेना पहली बार एक प्राइवेट कंपनी द्वारा निर्मित 100 प्रतिशत स्वदेशी 30 मिमी हाई विस्फोटक बंदूक गोला बारूद का उपयोग करेगी। अधिकारियों ने यह जानकारी शनिवार को दी।नागपुर की प्राइवेट कंपनी बनाएगी देश के लिए गोला बारुदगोला-बारूद का उत्पादन सोलर ग्रुप की नागपुर की इकोनॉमिक एक्सप्लोसिव्स लिमिटेड द्वारा किया गया है, जिसे भंडारा ऑर्डनेंस फैक्ट्री के प्रणोदक स्रोतों के साथ 12 महीनों के भीतर परीक्षण और वितरित किया गया था। सोलर ग्रुप के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक सत्यनारायण एन. नुवाल ने बारूद की पहली खेप वाइस एडमिरल एस.एन. घोरमडे, वाइस चीफ ऑफ नेवल स्टाफ को सौंपी।पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप में पहली बार गोला बारुद का कामरक्षा अधिकारी ने कहा, "यह पहली बार है कि सेवाओं ने एक भारतीय निजी कंपनी के साथ पूर्ण बंदूक गोला बारूद की डिलीवरी के लिए एक आदेश दिया है, जिसे एक वर्ष के भीतर पूरा किया गया था। भारतीय नौसेना ने ड्राइंग, डिजाइन स्पेसिफिकेशन, निरीक्षण उपकरण, सबूत और गोला-बारूद के परीक्षण को अंतिम रूप देने के माध्यम से तकनीकी सहायता प्रदान की।"इसके साथ, भारतीय नौसेना ने 30 मिमी उच्च विस्फोटक बंदूक गोला बारूद के लिए आपूर्ति का एक वैकल्पिक स्रोत सफलता के साथ विकसित किया है, जो आत्मनिर्भर भारत नीति के हिस्से के रूप में स्वदेशी रूप से उत्पादित है।1995 में स्थापित सोलर ग्रुप औद्योगिक विस्फोटक खंड में प्रमुख प्लेयर्स में से एक है और इसने रक्षा क्षेत्र में भी कदम रखा है।गौरतलब है कि भारत रक्षा के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनने के लिए लगातार प्रयास कर रहा है। हाल ही में विदेश मंत्री एस जयशंकर के अर्जेंटीना दौरे के दौरान इस देश को भारत में बना स्वदेशी लड़ाकू विमान 'तेजस' पसंद आया है।कुंभमेलेमेंएकहफ्तेमेंतीसरीबारलगीआगलाखोंकासामानराखRajasthan Politics: राजस्थान संकट पर सोनिया गांधी ने पर्यवेक्षकों से मांगी लिखित रिपोर्ट, कमलनाथ भी पहुंचे 10 जनपथ******Highlightsकांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पार्टी की राजस्थान इकाई में चल रहे संकट को लेकर पार्टी के दोनों पर्यवेक्षकों मल्लिकार्जुन खड़गे और अजय माकन से लिखित रिपोर्ट तलब की है। खड़गे और माकन ने सोनिया गांधी से सोमवार को यहां मुलाकात की। डेढ़ घंटे से अधिक समय तक चली मुलाकात के बाद माकन ने कहा कि जयपुर में रविवार शाम विधायक दल की बैठक मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की सहमति से बुलाई गई थी। उन्होंने कहा, "हमने सोनिया गांधी को पूरी जानकारी दी, उन्होंने लिखित रिपोर्ट मांगी है। हम आज रात या कल सुबह तक रिपोर्ट देंगे।"पर्यवेक्षकों ने यह भी कहा कि पार्टी की ओर से बुलाई गई विधायक दल की बैठक के समानांतर, अगर कोई बैठक बुलाई गई है, तो वह प्रथम दृष्टया ‘अनुशासनहीनता’ है। दोनों पर्यवेक्षक सीधे जयपुर से दिल्ली पहुंचे और इसके बाद 10 जनपथ पहुंचकर सोनिया गांधी से मिले। कांग्रेस के संगठन महासचिव के.सी. वेणुगोपाल भी बैठक में मौजूद थे। पार्टी के वरिष्ठ नेता कमलनाथ ने भी सोनिया गांधी से मुलाकात की है। माना जाता है कि गहलोत से कमलनाथ के अच्छे रिश्ते हैं और संकट सुलझाने की जिम्मेदारी उन्हें दी जा सकती है।उल्‍लेखनीय है कि राजस्थान में कांग्रेस विधायक दल की बैठक रविवार रात को मुख्‍यमंत्री आवास पर होनी थी, लेकिन गहलोत के वफादार कई विधायक बैठक में नहीं आए। उन्होंने संसदीय कार्यमंत्री शांति धारीवाल के बंगले पर बैठक की और फिर वहां से वे विधानसभा अध्‍यक्ष डॉ. सीपी जोशी से म‍िलने गए। राजस्थान के प्रभारी अजय माकन ने संवाददाताओं से कहा कि जब विधायक दल की कोई आधिकारिक बैठक बुलाई गई हो और यदि कोई उसी के समानांतर एक अनाधिकारिक बैठक बुलाए, तो यह प्रथमदृष्टया ‘‘अनुशासनहीनता’’ है। माकन ने कहा, ‘‘आगे देखेंगे कि इस पर क्‍या कार्रवाई होती है।’’जयपुर में गहलोत गुट के विधायकों से संवाद के बाद अजय माकन और मल्लिका अर्जुन खड़गे राजस्थान से दिल्ली लौट आए और दिल्ली में सोनिया गांधी के साथ मुलाकात करके पूरे राजस्थान के घटनाक्रम की जानकारी दी। इस बैठक में कमलनाथ और वेणुगोपाल भी मौजूद थे। लेकिन मौजदा हालात में तो अशोक गहलोत ने राजस्थान में सोनिया गांधी के पायलट प्रोजेक्ट पर ब्रेक लगा दिया है। 90 विधायकों की ताकत दिखाकर अशोक गहलोत ने फिलहाल हाईकमान को पस्त, पराजित और परेशान कर दिया है। राजस्थान में अशोक गहलोत के सियासी वीर सचिन पायलट से लेकर हाईकमान के आदेश पर लगातार तीर चला रहे हैं। राजस्थान में मीटिंग करके दिल्ली में हाईकमान के लिए शर्तें भेज रहे हैं।

कुंभमेलेमेंएकहफ्तेमेंतीसरीबारलगीआगलाखोंकासामानराखAaj Ka Panchang 28 March 2021: जानिए रविवार का पंचांग, शुभ मुहूर्त और राहुकाल******आज फाल्गुन शुक्ल पक्ष की उदया तिथि त्रयोदशी और दिन शनिवार है। त्रयोदशी तिथि आज सुबह 6 बजकर 12 मिनट तक रहेगी। आचार्य इंदु प्रकाश से जानिए शनिवार के पंचांग में शुभ मुहूर्त, राहुकाल के साथ-साथ सूर्योदय, सूर्यास्तऔर व्रत-त्योहार के बारे में।रात 12 बजकर 18 मिनट तकरात 9 बजकर 49 मिनट तकशाम 5 बजकर 36 मिनट तकशाम 05:04 से शाम 06:37 तकशाम 05:20 से शाम 06:51 तक शाम 05:06 से शाम 06:39 तक शाम 04:49 से शाम 06:21 तकशाम 05:02 से शाम 06:34 तक शाम 04:18 से शाम 05:50 तकशाम 05:21 से शाम 06:53 तकशाम 04:48 से शाम 06:20 तकसुबह 6 बजकर 19 मिनटशाम 6 बजकर 32 मिनटकुंभमेलेमेंएकहफ्तेमेंतीसरीबारलगीआगलाखोंकासामानराखCentral vista Project: नया संसद भवन बनाने का 70% काम पूरा हुआ, जानिए सरकार ने लोकसभा में और क्या दी जानकारी****** केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी योजना के तहत नए संसद भवन का निर्माण कार्य तेजी से किया जा रहा है। इसके निर्माण कार्य के बारे मे गुरुवार को सरकार ने लोकसभा में जानकारी दी। सरकार ने लोकसभा में बताया कि नए संसद भवन के निर्माण का 70 फीसदी काम पूरा हो गया है। सरकार ने गुरुवार को लोकसभा को बताया कि सेंट्रल विस्टा विकास व पुनर्विकास योजना के तहत 5 परियोजनाओं का क्रियान्वयन किया जा रहा है और इसमें नए संसद भवन के निर्माण का 70 प्रतिशत काम पूरा हो गया है।लोकसभा में राजेन्द्र अग्रवाल के प्रश्न के लिखित उत्तर में शहरी काम एवं आवास राज्य मंत्री कौशल किशोर ने यह जानकारी दी। मंत्री ने बताया कि आज की तारीख तक सेंट्रल विस्टा विकास/ पुनर्विकास योजना के तहत 5 परियोजनाओं का क्रियान्वयन किया जा रहा है। शहरी कार्य एवं आवास राज्य मंत्री द्वारा निचले सदन में रखे गए ब्यौरे के अनुसार, नये संसद भवन के निर्माण का 70 प्रतिशत कार्य पूरा हो गया है और इसे नवंबर 2022 ​तक पूरा किए जाने का लक्ष्य रखा गया है।उपराष्ट्रपति एनक्लेव का 24 फीसदी काम पूरा हुआ: सरकारमंत्री ने कहा कि सेंट्रल विस्टा एवेन्यू का पुनर्विकास कार्य लगभग पूरा हो चुका है। इसमें कहा गया है कि साझा केंद्रीय सचिवालय भवन 1,2,3 का 17 प्रतिशत कार्य हुआ है और इसे दिसंबर 2023 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। जवाब के अनुसार उपराष्ट्रपति एनक्लेव का 24 प्रतिशत काम पूरा हुआ है और इसे जनवरी 2023 तक पूरा करने का लक्ष्य है। उन्होंने कहा कि एक्जिक्यूटिव एनक्लेव का कार्य अभी शुरू नहीं किया गया है। गौरतलब है कि वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए सेंट्रल विस्टा परियोजना के निर्माण पर होने वाली अनुमानित लागत 2,285 करोड़ रुपये है।बता दें कि सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट में सेंट्रल एवेन्यू एरिया में पहले के मुकाबले अब 40 हजार स्क्वॉयर मीटर ग्रीन एरिया बढ़ाया गया है। पहले राजपथ के दोनों तरफ करीब 94 हजार स्क्वॉयर मीटर एरिया में लाल बजरी होती थी अब वहां पर लाल स्टोन की टाइल्स लगाई गई है। अब राजपथ की चौड़ाई 350 मीटर हो गई है, पहले ये कम होती थी। वहीं इसकी लम्बाई की बात करें तो वो राष्ट्रपति भवन से इंडिया गेट तक करीब ढाई किलोमीटर है।सेंट्रल विस्टा में राजपथ के दोनों तरफ अब 16 किलोमीटर का वॉक-वे बनाया गया है। यह वॉक-वे राजपथ के दोनों तरफ बनी कैनाल के साथ बनाया गया है। पहले जब पर्यटक या दिल्ली के लोग यहां घूमने के लिए आते थे तो राजपथ के आसपास बैठने के लिए एक बेंच भी नहीं होती था लेकिन अब राजपथ के दोनों तरफ पर्यटकों के लिए 422 बैंच बनाए गए हैं।

सम्बंधित जानकारी
गर्म सामग्री